पटना: बिहार विधानसभा चुनाव में प्रचार ज़ोर शोर से हो रहा है. सभी पार्टियाँ प्रचार में लगी हैं और साथ ही टिकट वितरण भी चल रहा है. इस बीच भाजपा ने अपने चुनिन्दा मुस्लिम चेहरों में से एक शाहनवाज़ हुसैन को झटका दिया है. शाहनवाज़ बिहार के ही नेता माने जाते हैं लेकिन पार्टी ने उन्हें स्टार प्रचारकों की सूची से बाहर रखा है. उनके अलावा राजीव प्रताप रूड़ी को भी पार्टी ने स्टार प्रचारक नहीं बनाया है.

इससे साफ़ ज़ाहिर है कि भाजपा का नेतृत्व मानता है कि ये नेता अब वोट खींचने में कारगर नहीं रहे. पार्टी नेता कह भी रहे हैं कि जो फ़ीडबैक मिला है उसी आधार पर फ़ैसला किया गया है. जहाँ रूड़ी और शाहनवाज़ को बाहर किया गया है वहीँ सुशील सिंह और राजकुमार सिंह का नाम इसमें शामिल करके पार्टी ने हैरान किया है. सुशील तो 2014 में ही पार्टी में आये हैं.

भाजपा नेताओं का कहना है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री शाहनवाज़ हुसैन का नाम इस लिस्ट में नहीं होना एक तरह से उन्हें संकेत है कि बिहार में जब तक नीतीश कुमार का साथ है तब तक मुस्लिम मतदाताओं के लिए अन्य मुस्लिम नेता काफ़ी हैं. ऐसा पहली बार होगा कि रूड़ी और शाहनवाज़ ऐसी लिस्ट में नहीं हैं. कई नए नाम इस लिस्ट में हैं लेकिन पुराने नेताओं को इसमें शामिल न करना भाजपा के अन्दर कलह पैदा कर सकता है.

भाजपा के क़रीबी सूत्र कहते हैं कि केन्द्रीय नेतृत्व में बैठे लोग राजीव प्रताप रूड़ी और शाहनवाज़ हुसैन को पसंद नहीं करते हैं. ख़बर ये भी है कि शाहनवाज़ को पार्टी भागलपुर से टिकट देना चाहती थी लेकिन विधायक उम्मीदवार बनने में उन्होंने बहुत दिलचस्पी नहीं दिखाई.

Leave a Reply

Your email address will not be published.