इन 3 जगह पर बीवी को अकेला नहीं छोड़ना चाहिए, इस बारे में हज़’रत अली ने फ़रमाया है कि..

अल्लाह ने हमें हर छोटी-बड़ी सभी बातों की जान कारी दी है ताकि हम अल्लाह के हुक्म पर जिंदगी गुजर बसर कर सके। अ’ल्लाह ने मर्द बीबी दोनों के अलग अलग बराबर हुकुक है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि किन तीन जगहों को बीबी को अकेला नहीं छोड़ना चाहिए।

दर असल हज़रत अली रजि अल्लाहु अन्हा ने फ़रमाया कि तीन जगहों पर बीवी को अकेला हरगिज़ नहीं छोड़ना चाहिए।आपको बता दें कि पहला अगर आपकी बीवी बीमारी है तो ऐसी हालत में साथ रह कर उसकी खिदमत करना चाहिए।

दुसरी सुरत है कि बीबी को सफर में आप अकेले नहीं भेज सकते हैं। बीबी अपने सगे भाई के साथ ही सफर कर सकती है। अगर बीबी के माता , पिता ,भाई और दीगर कोई ख़ास रिश्तेदार किसी परेशानी में तो उसकी मदद करनी चाहिए.

आगे हज़रत अली रजि अल्लाहु अन्हा फरमाते हैं कि बीबी की तारीफ का कोई मौका पेश आए, तो उसे गंवाना नहीं चाहिए। बीबी की तारीफ शौहर के लिए उसकी शिद्दत को बड़ा देती है। जिससे मियां बीवी ने के बीच की मुहब्बत को आगे बढ़ाती है।

वहीँ आपको बता दें कि,इस्लाम में औरतों को मर्दों के बराबर हुकूक दिया गया है। और अपनी बीवी का ख्याल रखना हर मर्द की ज़िम्मेदारी है और सभी को यह ज़िम्मे दारी उठानी चाहिए अच्छे तरीके से।

दोस्तों आपको हमारी यह इस्लामिक पोस्ट कैसी लगी हमको कमेन्ट करके ज़रूर बताये.

Leave a Reply

Your email address will not be published.