लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव ख़त्म हो गए हैं. सपा के वरिष्ठ नेता आज़म ख़ान और उनके बेटे अब्दुल्ला आज़म दोनों ही चुनावी मैदान में उतरे थे. रामपुर ज़िले की रामपुर सीट से आज़म ख़ान ने शानदार जीत दर्ज की है. आज़म जेल में थे तो ये कहा जा सकता है कि वो बिना प्रचार करे ही चुनाव जीत गए. वहीं उनके बेटे ने स्वार विधानसभा से चुनाव लड़ा था.

स्वार से अब्दुल्ला आज़म को हराने के लिए भाजपा ने पूरा दम लगा दिया लेकिन अब्दुल्ला को हराने का सपने को भाजपा पूरा नहीं कर सकी. अब्दुल्ला आज़म ने ये सीट बड़ी आसानी से जीत ली. अब्दुल्ला आज़म को 126162 वोट मिले जबकि उनके प्रतिद्वंदी अपना दल (सोनेलाल) के हैदर अली ख़ान सिर्फ़ 65059 वोट मिला.

आपको बता दें कि अब्दुल्ला को हराने के लिए भाजपा ने पूरी ताक़त लगा दी थी और अपना दल (सोनेलाल) को यहाँ से अच्छा प्रत्याशी दिया लेकिन वही हुआ जो होना था और बुरी तरह से भाजपा गठबंधन प्रत्याशी को हार मिली.

रामपुर ज़िले में आज़म ख़ान का ऐसा प्रभाव है कि यहाँ पार्टी ने पाँच में से तीन सीटें जीत लीं जबकि एक सीट 307 वोटों के मामूली अंतर से गंवानी पड़ी. सपा के नसीर अहमद खान चमरव्वा सीट पर जीत हैं. नसीर ने 34 हजार 290 मतों से बीजेपी के मोहन कुमार को हरा दिया. बीएसपी के अब्दुल मुस्तफा हुसैन और कांग्रेस के अली यूसूफ भी उनसे हार गए.

बिलासपुर सीट से बीजेपी के बल्देव सिंह औलख जीते हैं. उन्होंने सपा प्रत्याशी अमर जीत को 307 वोटों से हरा दिया है. बीएसपी के रामौतार कश्यप और कांग्रेस के संजय कपूर की भी हार हुई है.

मिलक सीट से बीजेपी प्रत्याशी राजाबाला सिंह मिलक विधानसभा सीट से जीते हैं. उन्होंने सपा के विजय सिंह को 5912 वोटों से शिकस्त दी. वहीं, कांग्रेस के कुमार एकलव्य और बीएसपी के सुरेंद्र सिंह सागर की भी हार हुई है.