लखनऊ: उत्तर प्रदेश में जब से योगी आदित्यनाथ ने मुख्यमंत्री पद सम्भाला है तब से ही उनकी सरकार ने कई अहम् शहरों के नाम बदले हैं. चर्चा है कि कुछ और शहरों के नाम भी योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार बदल सकती है. उत्तर प्रदेश के दो अहम् शहर इलाहाबाद और फ़ैज़ाबाद के नाम बदले जा चुके हैं. ये बात और है कि आज भी ये शहर इन्हीं नामों से मशहूर हैं.

योगी सरकार के बारे में कहा जा रहा है कि वो अब आगरा का नाम बदलना चाहती है. बताया जा रहा है कि आगरा का नाम अब अग्रवन हो सकता है. सरकार ने इसकी जिम्मेदारी अंबेडकर यूनिवर्सिटी को सौंपी है. यूनिवर्सिटी के इतिहास विभाग से कहा गया है कि वो इसके विषय में सम्बंधित सुझाव भेजे. विभाग से इस विषय पर सम्बन्धी साक्ष्य भी माँगे गए हैं.

न्यूज़18 पर छपी ख़बर के मुताबिक़ योगी सरकार ने इसको लेकर इतिहासकारों से भी बातचीत की है. इतिहास के जानकारों के मुताबिक, आगरा का नाम अग्रवन हुआ करता था. शासन अब ये साक्ष्य तलाशने की कोशिश कर रहा है कि अग्रवन का नाम आगरा किन परिस्थितियों में किया गया. उत्तर प्रदेश की सरकार इलाहाबाद, फ़ैज़ाबाद, मुग़लसराय स्टेशन और लखनऊ के मशहूर हज़रतगंज चौराहे का नाम बदल चुकी है.

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार में इलाहाबाद और फ़ैजाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज व अयोध्या किया जा चुका है. इसके अलावा मुगलसराय स्टेशन का नाम पंडित दीनदयाल उपध्याय जंक्शन किया गया है. इतना ही नहीं चंदौली जिले का नाम बदलने की रिपोर्ट शासन को भेजी जा चुकी है. हालांकि इस पर अभी कोई फैसला नहीं हुआ है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.