अब शिवपाल यादव कुछ भी करें, अखिलेश यादव ने तो कर लिया…

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के बाद से ही ऐसी अटकलें तेज़ हैं कि समाजवादी पार्टी के विधायक और प्रसपा के अध्यक्ष शिवपाल यादव भाजपा नेताओं के सम्पर्क में हैं। ऐसी भी ख़बरें थीं कि वो सपा से कुछ पद की उम्मीद कर रहे हैं। परंतु सपा उन्हें कोई पद देना नहीं चाह रही है।

कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर ऐसी ख़बरें तेज़ हो गईं की शिवपाल यादव भाजपा के बड़े नेताओं के सम्पर्क में हैं। ऐसी भी ख़बरें भी चलीं कि शिवपाल जल्द भाजपा से गठबंधन कर सकते हैं। कुछ ख़बरों में कहा गया कि शिवपाल को राज्यसभा भेजा जा सकता है और जसवंतनगर से उनके बेटे आदित्य यादव को चुनाव लड़ाया जा सकता है तो कुछ ख़बरों में ये कहा गया कि शिवपाल को केंद्रीय मंत्री भी बनाया जा सकता है तो कुछ ने कहा कि उन्हें उत्तर प्रदेश विधानसभा में डिप्टी स्पीकर बनाया जा सकता है।

अब सोशल मीडिया पर एक और बात तेज़ी से चल रही है कि शिवपाल यादव भले सपा के साथ गठबंधन में हैं लेकिन वो चुनाव के पहले से ही भाजपा से मिले हुए हैं। इसका आधार शिवपाल के क़रीबी लोगों के भाजपा में शामिल होने को बताया जा रहा है। कहा जा रहा है कि शिवपाल ने चुनाव के दौरान भाजपा में अपने लोग भेजे।

वहीं ये भी बातें चल रही हैं कि मुलायम सिंह यादव की बहू अपर्णा यादव को भाजपा में शामिल होने के लिए प्रोत्साहन शिवपाल ने ही दिया। शिवपाल पर ये भी आरोप लग रहे हैं कि उन्होंने मैनपुरी और भोगाँव जैसी सीटों पर सपा के ख़िलाफ़ ही काम किया।

इन सभी बातों का आधार इधर उधर से तथ्य जोड़ना ही है। फिर भी ये ज़रूर है कि शिवपाल किस तरफ़ रहेंगे अभी तक क्लियर नहीं हो रहा है। इसी क्लैरिटी के लिए जब सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से सवाल किया तो उनका जवाब बड़ा दिलचस्प था।

उन्होंने तो साफ़ कह दिया कि इस मुद्दे पर बात करना समय की बर्बादी है। कन्नौज में प्रेस से बात करते हुए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा भाजपा लोकतंत्र की सीरियल किलर है, उसे पता है कि वोट कैसे लूटना है।

अखिलेश यादव ने इस प्रेस वार्ता में भाजपा पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पंचायत चुनाव में जो हुआ सबको मालूम है। उन्होंने कहा,”फर्रुखाबाद के प्रत्याशी यहां बैठे हैं उनके साथ क्या हुआ आपको मालूम है? कार्यकर्ता साफ सुथरे चुनाव की बात कह रहे हैं लेकिन बीजेपी से साफ सुथरे चुनाव की उम्मीद नहीं की जा सकती.”

अखिलेश यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि टोपी पर सवाल उठाने वाले लोग आज खुद टोपी पहने हैं. पेट्रोल-डीजल के महंगाई की बात चुनाव से पहले ही सभी को पता थी. बेरोजगारी बढ़ी है और नौजवान निराश होकर आत्महत्या कर रहे हैं. महंगाई और भ्रष्टाचार बढ़ रहा है.

उन्होंने कहा, पत्रकार साथी आप भी सुरक्षित नहीं हैं, हो सकता है कि आपको भी जेल में डाल दिया जाए.

अखिलेश यादव ने अपनी इस वार्ता में कई मुद्दों की बात की लेकिन शिवपाल यादव के सवाल को वो टाल गए। इससे ज़ाहिर है कि शिवपाल को मनाने की कोई कोशिश सपा नहीं करने वाली है। अखिलेश यादव ने अब फ़ैसला कर लिया है कि शिवपाल यादव को अब वो मनाने की कोशिश नहीं करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.