अफसरों को धम’काना अब्बास अंसारी को पड़ा महंगा, पहले केस दर्ज, अब चुनाव आयोग से लगा बड़ा झटका इलेक्शन…

March 4, 2022 by No Comments

अखिलेश यादव के नाम पर अधिकारियों को खुलेआम धमकी देने के मामले में मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी पर केस के बाद निर्वाचन आयोग की तरफ से भी कार्रवाई की गई है अब्बास अंसारी पर 24 घंटे के लिए किसी भी तरह की राजनीतिक गतिविधियों में भागीदारी और प्रचार प्रसार पर रोक लगा दी है। उत्तर प्रदेश (UP Chunav) की मऊ सदर विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी गठबंधन के प्रत्याशी और बाहुबली मुख्तार अंसारी (mukhtar ansari) के बेटे अब्बास अंसारी (abbas ansari) अपने एक बयान को लेकर मुसीबत में फंस गए हैं।

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में अफसरों को खुलेआम धमकी देने वाले मऊ सदर सीट से सुभासपा उम्मीदवार अब्बास अंसारी पर चुनाव आयोग ने एक्शन लिया है यह पाबंदियां शुक्रवार की शाम सात बजे से शुरू हो गई हैं। इस बारे में निर्वाचन आयोग ने अब्बास अंसारी को एक नोटिस भी जारी की है। अब्बास अपने पिता मुख्तार अंसारी की परंपरागत सीट मऊ सदर से इस बार सपा गठबंधन के प्रत्याशी हैं। उन्हें सुभासपा के चुनाव चिह्न पर मैदान में उतारा गया है।

आयोग ने वीडियो में पाया है कि यह निर्वाचन के लिए बने नियमों का उलंघन है. बता दें कि इस आदेश में दर्ज एफआईआर का भी जिक्र है. दरअसल, बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वह कहते दिखते हैं, ‘समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्ययक्ष अखिलेश यादव जी से कहकर आया हूं कि छह महीने तक किसी की ट्रांसफर-पोस्टिंग नहीं होगी।

वीडियो कहते सुनाई दे रहे है भइया जो यहां है, यहीं रहेगा, पहले हिसाब किताब होगा. उसके बाद उनके जाने के सर्टिफिकेट पर मुहर लगाया जाएगा.’ बता दें कि चुनाव आयोग के आदेश में इस वीडियो का ट्रासक्रिप्ट भी दिया गया है इसकी सफाई में अब्बास अंसारी ने आजतक से बात करते हुए कहा था की कुछ अधिकारियों ने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए उसका गलत इस्तेमाल किया जिसकी जांच होना जरूरी है ताकि आगे कोई भी अधिकारी अपने पद का गलत प्रयोग ना कर सके।

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.