पूर्वांचल के बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी के विधायक बेटे अब्बास अंसारी को चुनाव के दौरान भड़का,ऊ बयानबाजी करने के मामले में राहत मिली है.इलाहाबाद कोर्ट की डिवीजन बेंच ने अगले आदेश तक अब्बास की गिरफ्ता,री पर रोक लगा दी है.कोर्ट ने अब्बास की अर्जी पर सुनवाई करते हुए यूपी सरकार और चुनाव आयोग को नोटिस जारी कर उनसे 4 हफ्ते में जवाब दाखिल करने को कहा है.

अब्बास अंसारी की तरफ से उनके वकील उपेंद्र उपाध्याय ने कोर्ट में ये दलील दी कि विवा,दित बयानबाजी के मामले में चुनाव आयोग उन पर 24 घंटे की पाबं,दी लगा चुका है.

आयोग के आदेश का पालन करते हुए उन्होंने 24 घंटे तक चुनाव प्रचार नहीं किया था.ऐसे में उन्हें एक ही मामले में दो बार आरो,पी नहीं बनाया जा सकता है.

ये भ,ड़काऊ भा,षण का मामला हो सकता है, जिसमें चुनाव आयोग पहले ही कार्य,वाही कर चुका है.ऐसे में एफआई/आर दर्ज किया जाना पूरी तरह गलत है क्योंकि इसमें कतई कोई आपरा,धिक मामला नहीं बनता है.

अब्बास अंसारी की गिरफ्तारी पर रोक-अब्बास अंसारी ने इस मामले में एफआ/ईआर र,द्द किए जाने और गिर,फ्तारी पर रोक लगाए जाने की मांग को लेकर याचिका दाखिल की थी.

अब्बास अंसारी की अर्जी पर उनके वकील उपेंद्र उपाध्याय ने दलील दी कि इस मामले में आदर्श आचा,र संहिता का मामला तो हो सकता है लेकिन इसमें कोई आप,राधिक मामला नहीं बनता.

अदालत उनकी इस द,लील से सहमत नजर आई और उसने अब्बास अंसारी की गिर,फ्तारी पर अगले आदेश तक के लिए रोक लगा दी. इस मामले पर अगली सुनवाई मई में होगी.