आबे जमजम के पानी की ये खूबियाँ कोई भी नहीं जानते होंगे, आखिर क्यों पीते हैं मुस्लिम ये पानी…

July 17, 2021 by No Comments

इस्लामिक ध’र्म के अनुसार आबे जमजम का बहुत ही बड़ा महत्व है। यह वह पानी है जो एक यादगार के रूप में आज से हजारों साल पहले से है और इसकी सबसे बड़ी खासियत ये है कि यह कभी सूखती नही है। ये पानी सिर्फ सऊदी अरब में ही मिल सकता है क्योंकि सऊदी में ही इसका कुआं है और लोग वहीं से इसको हर देश मे लेकर जाते हैं।

अभी हर जगह आब जमजम के नाम पर लोकल पानी ही बेचा जा रहा है और लोगों को बेवकूफ बनाया जाता है कि यह जमजम का पानी है। आपको बता दूं कि जमजम का असली पानी सिर्फ और सिर्फ सऊदी के मक्का में ही आपको मिलेगा। जहां इसकी कुआं है। आइये जानते हैं जमजम के पानी की कुछ खूबियाँ।

आबे जमजम के पानी की सबसे बड़ी खासियत ये है कि यह पानी कभी नही सूखता है और कयामत तक कभी नही सूखेगा। जब जितने पानी की जरूरत होती है लोग इसमें से निकाल सकते हैं लेकिन कभी खत्म नही होती। इस पानी का स्वाद सभी पानियों से हटके है और यह पानी काफी मीठा है।

यह पानी सभी को सूट करता है और किसी भी व्यक्ति को इस पानी से कभी कोई तकलीफ या बीमारी नही हुआ। इस पानी को शुद्ध करने के लिए किसी भी अन्य चीज की जरूरत नही बल्कि यह प्राकृतिक रुप से ही शुद्ध है।

दिल के रोगियों के लिए और अन्य बीमा’री में सिफ़ा का इरादा करके यदि इस पानी को पिया जाए तो वह बीमारी जरूर दूर हो जाती है। यह पवित्र धर्मस्थल काबा के पास स्थित है।

कहा जाता है कि जैसे हर हिंदू की अभिलाषा रहती है कि उसके घर में सदा गंगाजल रहे वैसे ही हर मुसलमान की यह हार्दिक इच्छा रहती है कि इस कुएं का पानी उसके घर में हो। इस कुएं की खासियत है कि इसका पानी कभी नहीं सूखा।

सबसे बड़ी हैरानी की बात ये है कि सऊदी अरब जहाँ मीलों फैले रेगिस्तान में जहां सिर्फ रेत ही रेत है। वहीं यह कुआं लाखों लोगों की पानी की जरुरतों को पूरा करता है। मक्का और मदीना के लोग तो इसका पानी लेते ही हैं। हज के समय हर वर्ष वहां लाखों की तादाद में जाने वाले यात्रियों की जल की आवश्यकता भी यही कुआं पूरी करता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *