लखनऊ. उन्नाव में गैंगरे;प पी’ड़िता की आज दिल्ली के एक अस्पताल में मौत हो गई. इस घटना के बाद आम जनमानस में ग़ुस्से की भावना है. सवाल उठ रहे हैं कि आख़िर एक रे’प-पी’ड़िता को उत्तर प्रदेश की पुलिस सुरक्षा क्यूँ नहीं दे सकी. इस बीच समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव लखनऊ में लोकभवन के सामने धरने पर बैठ गए. प्रशासन को जैसे ही इसकी ख़बर मिली हड़कं’प की स्थिति बन गई.

अखिलेश के साथ सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल और मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी भी धरने पर बैठे. आनन-फानन में पुलिस की एक्टिविटी बढ़ गई और भारी पुलिस बल मौक़े पर बुला ली गई. अखिलेश यादव ने उन्नाव गैंगरे’प पीड़ि’ता के लिए 2 मिनट का मौन रखा. इसके बाद धरना समाप्त कर दिया. इस दौरान मीडिया से बात करते हुए सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने कहा कि इस सरकार में यह पहली घटना नहीं है.

उन्होंने कहा, ‘उन्नाव की घटना उत्तर प्रदेश में पहली नहीं है. उन्नाव की घटना भयानक दर्द देती है.’ पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि आज का दिन हमारे लिए काला दिवस है. डॉक्टरों की कोशिश से भी जान नहीं बची. अखिलेश यादव ने कहा कि सपा 8 दिसंबर को पूरे उत्तर प्रदेश में विरोध दिवस मनाएगी. उन्होंने कहा, ‘हम जिलों और महानगरों में शांतिपूर्ण धरना करेंगे. सपा रविवार को सभी जिला मुख्यालयों पर उन्नाव की बेटी के लिए शोक सभा करेगी और जितनी भी बेटियों की जान गई है उन्हें याद करेगी.’

पूर्व मुख्यमंत्री ने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि ये महिलाओं और लड़कियों की मदद करने में नाकाम है. उन्होंने कहा कि ऐसी सरकार जो दुःख और परेशानी दे रही हो, उसको हट जाना चाहिए.. यह हमारे समाज के लिए काला दिन है. इस दौरान अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बड़ा हमला करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री, होम सेक्रेटरी, डीजीपी के हटे बिना बेटियां सुरक्षित नहीं हो सकतीं.

उन्होंने कहा कि याद कीजिए उन्नाव की एक बेटी ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर आकर खुद की जान देने की कोशिश की थी. बाराबंकी की बेटी ने आत्मदाह कर लिया, उसकी जान नहीं बची. अखिलेश यादव ने कहा उन्नाव की बेटी की जान नहीं बचाई जा सकी. इस केस में जो आरोपी हैं, वे भारतीय जनता पार्टी से जुड़े हुए हैं. अखिलेश यादव ने कहा कि आज के युग में इस तरह की घटना होगी कि जिंदा जला देगा कोई. अखिलेश ने कहा कि वो बेटी एक किलोमीटर तक जलती हुई ही भागी थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.