अब्बास अंसारी के एतिहासिक जीत के बाद बढ़ी मुश्किलें ‘हिसाब-किताब’ वाले बयान पर पुलिस ने कसा शिकंजा, अब…

March 13, 2022 by No Comments

चुनाव के बीच नुक्कड़ सभा में मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी ने अखिलेश यादव के नाम पर अधिकारियों को धमकी देने के मामले में पुलिस ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया है आपको बता चुनाव से ठीक पहले अब्बास ने एक जनसभा में कहा था कि सपा सरकार बनने पर पहले अधिकारियों का ‘हिसाब किताब’ होगा उसी बयान को आधार बनाते हुए अब्बास पर एफआईआर दर्ज की गई थी।

जबकि उनके इस बयान पर चुनाव आयोग में चुनाव प्रचार पर भी एक दिन की रोक लगा दी थी मतगणना के बाद जब योगी सरकार की फिर वापसी हुई है अब अब्बास के खिलाफ दर्ज मुकदमें में कई धाराएं बढ़ा दी गई हैं आपको बता दें मुख्तार अंसारी की परंपरागत सीट मऊ सदर से इस बार सपा गठबंधन की सहयोगी सुभासपा ने अब्बास अंसारी को मैदान में उतारा था।

उन्हीने अपने चुनाव प्रचार दौरान कहा था कि भैया ( अखिलेश यादव ) से बात हो गई है सपा की सरकार बनने पर यहां के अधिकारियों का छह महीने तक ट्रांसफर नहीं होगा पहले सभी का हिसाब-किताब होगा अब्बास अंसारी का ये बयान तेजी से वायरल हुआ तो उनके खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया।

अब्बास अंसारी मऊ सदर से भले ही जीत कर विधायक बन गए हैं लेकिन भाजपा की प्रचंड जीत के साथ ही पुलिस ने उन पर शिकंजा भी कसना शुरू कर दिया है हिसाब किताब वाले बयान के बाद अब्बास अंसारी पर आचार संहिता उल्लंघन की धाराओं में केस दर्ज किया गया था अब उसी केस में अब्बास के खिलाफ धारा 186 (सरकारी काम में बाधा डालना) धारा 189 (लोकसेवक को धमकी), धारा 153A (किसी वर्ग विशेष के खिलाफ बयान या अशांति का प्रयास) और धारा 120B (आपराधिक षड्यंत्र) बढ़ा दी गई है।

जब नई धाराएं जोड़ने पर मऊ कोतवाली के इंस्पेक्टर से सवाल किया गया तो उनका कहना था कि अब्बास के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन में पहले मुकदमा दर्ज हुआ था जांच में अन्य बातें सामने आईं तो धाराएं बढ़ाई गई हैं। हालांकि उनका कहना है कि केस दर्ज होने के अगले ही दिन धाराएं बढ़ा दी गई थीं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.