एक और सहयोगी पार्टी ने किया एनडीए छोड़ने का ऐलान, कहा- नहीं चलेगी ता’नाशाही..

December 29, 2020 by No Comments

बीते 1 महीने से दिल्ली में किसानों का आंदोलन जोरों शोरों से चल रहा है। लेकिन आप बता कर सरकार और किसान प्रदर्शनकारियों के बीच सहमति से कोई भी फैसला नहीं हो पाया है। दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी के सहयोगी दलों ने भी उनसे किनारा करना शुरू कर दिया है।

माना जा रहा है कि भाजपा का रवैया उनके सहयोगी दलों को रास नहीं आ रहा है। जिसके चलते एक-एक कर कई राजनीतिक दल एनडीए से अपना रास्ता अलग कर रहे हैं। बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान लोजपा ने एनडीए से अलग होकर चुनाव लड़ा वही हरियाणा में भी कृषि कानूनों के मुद्दे पर जजपा और भाजपा में अनबन की खबरें सामने आ रही है।

इसी बीच तमिलनाडु से भी बड़ी खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि तमिलनाडु में सत्तारूढ़ एआईएडीएमके ने साफ कह दिया है कि तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में भाजपा की ता’नाशाही नहीं चलेगी।

माना जा रहा है कि दोनों पार्टियों में अनबन की शुरुआत मुख्यमंत्री पलानिस्वामी को लेकर हुई है। दरअसल एआईएडीएमके चाहती है कि विधानसभा चुनाव में पलानिस्वामी को ही मुख्यमंत्री उम्मीदवार बनाया जाए लेकिन भाजपा इससे सहमत नजर नहीं आ रही है।

इसी के चलते केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने पलानिस्वामी को मुख्यमंत्री उम्मीदवार बनाने पर किसी भी तरह की टिप्पणी करने से इंकार कर दिया था। इसके साथ ही एआईएडीएमके सांसद केपी मुनुसामी ने यह कह डाला है कि अगर कोई पार्टी ता’नाशाही चलाना चाहती है तो उनका गठबंधन में हिस्सा ना बनने के लिए स्वागत है।


आपको बता दें कि तमिलनाडु में 2021 के अप्रैल-मई में चुनाव होने हैं। बीजेपी तमिलनाडु में अपना कद बड़ा करने में लगी है। फिलहाल तमिलनाडु में बीजेपी ने कोई चुनाव नहीं जीता है। वहां उसका कोई विधायक या सांसद नहीं है। इधर पिछले नौ सालों से सत्ता में रहने के चलते सत्तारूढ़ AIADMK को सत्ता विरोधी लहर का सामना करना पड़ा है। पिछले साल पार्टी ने लोकसभा चुनाव बीजेपी संग गठबंधन में लड़ा थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *