AIMIM के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली द्वरा गठबंधन पोस्ट पर RUC के प्रवक्ता का पलटवार कहा हम भी…

December 5, 2021 by No Comments

ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ने सोशल मीडिया में एक प्रेस विज्ञप्ति पोस्ट की है जिसको लेकर चर्चा का विषय बना हुआ है उस विज्ञप्ति में वह लिखते हैं ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने उत्तर प्रदेश के 20% मुसलमानों वोटों का बिखराव ना हो उसके लिए वह चाहते थे उत्तर प्रदेश में एक मजबूत गठबंधन बने जिसमें उत्तर प्रदेश की बड़ी क्षेत्रीय पार्टीयां सपा बसपा भी उस गठबंधन का हिस्सा बने ।

उन्होंने कहा कि उसके लिए पार्टी अध्य्क्ष असदुद्दीन ओवैसी ने 6 महीने से सपा, बसपा, शिवपाल यादव, चंद शेखर आजाद, सुभासपा के नेताओं से मुलाकात की और प्रयास किया कि एक मजबूत गठबंधन बने लेकिन महोबा में अखिलेश यादव, ने एक कार्यक्रम में जिस तरह के से कहा कि ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन से गठबंधन नहीं हो सकता ऐसी ही बातें बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी ट्विटर के जरिए कही AIMIM अध्यक्ष ने साफ तौर आरोप लगाते हुए लिखते हैं AIMIM से सिर्फ इस वजह से गठबंधन नहीं कर रहे है कि वह मुसलमान है।,

वहीं दूसरी तरफ छोटे-छोटे पार्टियों से जिनका जनाधार भी नहीं है उससे गठबंधन कर रहे हैं। इस मामले में राष्ट्रीय उलमा काउंसिल के राष्ट्रीय प्रवक्ता तल्हा रशादी ने ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली पर पलटवार करते हुए सवाल पूछा है हम भी इत्तेहाद चाहते हैं आप बताइए आप क्या चाहते हैं वहीं दूसरी तरफ ट्विटर पर वेरिफाई राष्ट्रीय उलमा काउंसिल के नाम से चलने वाले ट्विटर हैंडिल से भी सवाल पूछा गया है।

जिसमें मजलिस के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली के पोस्ट को शेयर करते हुए लिखा गया है माननीय अध्यक्ष MIM कह रहे हैं कि हम UP में गठबंधन करना चाहते हैं पर कोई तथकथित सेकुलर दल हमसे गठबंधन नही कर रहा है। सवाल ये भी होना चाहिए कि UP में पहले से काम कर रही मुस्लिम क़यादते पीस पार्टी, व राष्ट्रीय ओलमा कौन्सिल, MIM से गठबंधन करना चाहती हैं पर क्या MIM इसके लिए तैयार है?

जिस पर कई लोगों ने कमेंट किया है एक यूजर शोएब अंसारी लिखते हैं शौकत साहब यूपी में अगर गठबंधन करना चाहते हैं तो पीस पार्टी राष्ट्री ओलमा कौंसिल से गठबंधन क्यूं नही कर रही है? आपकी पार्टी पहले इत्तेहाद आपस में बनाओ तब जाना समझा जाए आप लोग मुस्लिम की फिक्र करते हैं अब सवाल यह है सपा, बसपा, सुभाष, सहित अन्य पार्टियों के इनकार के बाद क्या AIMIM मुस्लिम पार्टियों के साथ गठबंधन करेगी?

 

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.