यूपी विधानसभा चुनाव के लिए एक हुए चाचा-भतीजा, जल्द होगा गठबंधन का ऐलान… इन सीटों पर..

November 6, 2021 by No Comments

इस वक्त उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के चर्चे पूरे देश में हो रहे हैं। उत्तर प्रदेश में चुनावी बिसात बिछ चुकी है और राजनीतिक दलों द्वारा रणनीतियों पर काम किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश में इस वक्त बड़े से बड़े राजनीतिक दल से लेकर छोटे क्षेत्रीय राजनीतिक दल भी पूरी तरह सक्रिय हो चुके है।

इसी बीच खबर सामने आई है कि दिवाली पर प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल यादव और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के बीच गठबंधन होने की बात बन गई है। गठबंधन को लेकर दिवाली के मौके पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रगतिशील समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं का जोश बढ़ा दिया है।

माना जा रहा है कि दोनों राजनीतिक दलों के साथ रहने से सियासी वैतरणी पार करने में मजबूत पतवार मिल जाएगी। लेकिन गठबंधन के साथ दोनों को एक-दूसरे के प्रति दरियादिली दिखानी होगी ताकि कार्यकर्ताओं के बीच सकारात्मक संदेश जा सके।

सपा और प्रसपा के बीच गठबंधन के संकेत रक्षाबंधन से पहले मिलने लगे थे। अब सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गठबंधन का एलान कर दिया है। इसका एलान लखनऊ से न करके सैफई से किया गया है। वह भी दिपावली के दिन। इसके भी सियासी निहितार्थ हैं।

अलबत्ता सीटों को लेकर अभी तस्वीर साफ नहीं है। सारा दारोमदार सीटों के बंटवारे पर टिका है। क्योंकि प्रसपा अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव दोहराते रहे हैं कि उनके साथ रहने वालों का भी सम्मान होना चाहिए।

ऐसे में सीट बंटवारा इस गठबंधन का मुख्य मुद्दा होगा। सैफई परिवार में दखल रखने वालों का कहना है कि सीट बंटवारे का मुद्दा सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की मौजूदगी में सुलझेगा। इसे लेकर फार्मूला भी तैयार किया जा रहा है। फार्मूले के तहत यह भी संभव है कि शिवपाल के कुछ करीबी सपा के चुनाव चिह्न पर चुनाव मैदान में दिखें।

अखिलेश यादव और शिवपाल सिंह यादव भाजपा को सत्ता से बेदखल करने की अपील करते रहे हैं। दोनों के सुर एक रहे हैं। वे समान विचारधारा के लोगों को एकजुट होने की वकालत भी करते रहे हैं। इस बीच शिवपाल ने अखिलेश यादव से गठबंधन का प्रस्ताव रखा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *