डॉ कफील खान को लेकर आई बड़ी खुशखबरी, इलाहाबाद हाई कोर्ट ने एंटी सीएए भाषण पर दी…

August 28, 2021 by No Comments

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से डॉक्टर कफील खान नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ अलीगढ़ में भ’ड़काऊ भाषण देने के मामले में काफी सुर्खियों में बने रहे हैं। जिसके चलते उन को काफी वक्त तक जेल में भी बंद रखा गया। अब खबर सामने आ रही है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने इस मामले में डॉ कफील खान को बड़ी राहत दे दी है।

खबर के मुताबिक इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एक अपराधिक मामले में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट अलीगढ़ द्वारा डॉक्टर कफील खान के खिलाफ दायर किए गए आरोप पत्र और उसके संज्ञान को खारिज कर दिया है। बताया जाता है कि इस आरोपपत्र में डॉक्टर कफील खान पर नागरिकता संशोधन अधिनियम के विरोध में भ’ड़काऊ भाषण देने का आरोप लगाया गया था।

अदालत ने आरोप पत्र और उसके संज्ञान आदेश को यह कहते हुए रद्द कर दिया कि आरोप पत्र दाखिल करने से पहले, संबंधित पुलिस अधिकारियों ने केंद्र या राज्य सरकार या जिला मजिस्ट्रेट से आ’पराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा 196 (ए) के तहत अपेक्षित मंजूरी नहीं ली थी।

यह फैसला देते हुए न्यायमूर्ति गौतम चौधरी ने स्पष्ट किया कि केंद्र या राज्य सरकार या जिला मजिस्ट्रेट से सीआरपीसी की धारा 196 (ए) के तहत दी गई अनिवार्य मंजूरी के बाद अदालत द्वारा चार्जशीट और उसके संज्ञान आदेश पर विचार किया जा सकता है।

कोर्ट ने आरोप पत्र और संज्ञान आदेश को इसलिए दरकिनार कर दिया क्योंकि उसके मुताबिक, ऐसे मामलों (भ’ड़काऊ भाषण के अ’पराध) के लिए जिलाधिकारी द्वारा केंद्र और राज्य सरकार से भारतीय दंड संहिता की धारा 196 (ए) के तहत आवश्यक मंजूरी नहीं ली गई थी।

दरअसल अलीगढ़ के सीजेएम ने एक आपराधिक मामले में आरोप पत्र दाखिल किए जाने के बाद खान के खिलाफ संज्ञान का आदेश पारित किया था। दिसंबर 2019 में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में संशोधित नागरिकता कानून एनआरसी के खि’लाफ वि’रोध के दौरान भ’ड़काऊ भाषण देने का डॉ कफील खान पर आरोप लगाया गया था।

आपको बता दें कि गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज के बाल रोग विशेषज्ञ खान को पहले अगस्त 2017 में ऑक्सीजन की कमी के कारण बीआरडी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में लगभग 60 शिशुओं की मौ’त के बाद सेवा से निलंबित कर दिया गया था। खान ने अपने निलंबन को इलाहाबाद हाई कोर्ट में चुनौती दी है जो मामले की सुनवाई कर रहा है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *