लखनऊ. मौजूदा दौर में धार्मिक सद्भाव की कमी देखी जा सकती है. ऐसे में सरकार और विपक्ष दोनों की तरफ से इसके लिए कोशिशें होनी चाहिएँ. पिछले दिनों लाउडस्पीकर का विवाद ज़ोर पकड़ लिया था. इस विवाद को शांत करने के लिए सरकार की ओर से कुछ क़दम उठाये जा रहे हैं.

उत्तर प्रदेश सरकार और पुलिस ने भी इसको लेकर कदम उठाने शुरू कर दिए हैं. एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने ईद और अलविदा नमाज को लेकर खास निर्देश जारी किए हैं. प्रशांत कुमार के अनुसार हाईकोर्ट के नियमों का इस दौरान सख्ती से पालन किया जाएगा. इसके साथ ही उन्होंने बताया कि अब तक पुलिस ने 125 लाउडस्पीकर अलग अलग जगहों पर उतार दिए हैं.

इसी के साथ लोगों ने भी पुलिस का पूरा सहयोग किया है और लाउडस्पीकर के वॉल्यूम को 17000 पीए सिस्टम तक कम करने का निर्णय लिया है. इसी के साथ एडीजी ने कहा कि संवेदनशील जिलों में अलविदा नमाज के दौरान पुलिस को विशेष इंतजाम करने के निर्देश ‌भी दिए गए हैं.

वहीं इससे पहले अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिया था कि अलग अलग क्षेत्रों के लिए तय मानक का पालन करवाया जाए और जो भी कार्रवाई की जाए उससे प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को अवगत करवाया जाए. अवस्‍थी ने आदेश दिया कि राज्य में चल रहे अवैध लाउडस्पीकरों को हटाया जाए.

इसके साथ ही धर्मगुरुओं से संवाद कर निर्धारित मानक के अनुसार ही वैध लाउडस्पीकरों का वॉल्यूम रखा जाए. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कई जिले ऐसे भी हैं जहां पर इस आदेश का कड़ाई से पालन करवाया जाना चाहिए. साथ ही उन्होंने कहा कि ऐसे थानों की सूची बनाई जाए जहां पर दिए गए नियमों और आदेशों का पालन नहीं हो रहा है. इसकी साप्ताहिक समीक्षा की जाए और रिपोर्ट 30 अप्रैल तक मंडलायुक्त अपने जिलों के पुलिस आयुक्त को दें.