अमेरिका में भी रा’ष्ट्रपति चुनाव की सरगर्मि’यां तेज हो गई हैं, जिसको लेकर अमेरिका का पूरा माहौ’ल गर’माया हुआ है। इसी गर्मा’गर्मी के बीच फेसबुक कंपनी के प्रमुख मार्क जुकरबर्ग ने चिं’ता जताते हुए एक बया’न जारी किया है। गुरुवार को अपने इस बयान में उन्होंने अमेरिका में नागरिक अशां’ति का अनुमान लगाया है। उन्होंने कहा है कि वोटों की गिनती के बीच अशां’ति होने का डर है। उन्होंने चिं’ता ज़ा’हिर करते हुए कहा है कि यह सभी सोशल मीडिया कंपनियों के लिए एक अग्नि’परीक्षा जैसा है। इसके साथ ही मार्क जुकरबर्ग ने महत्व’पूर्व क़दम उठाने की बात भी कही।

मार्क जुकरबर्ग ने चिं’ता जताते हुए कहा, “चुनाव परि’णाम को अं’तिम रूप दिए जाने में दिन या हफ्ते लग सकते हैं। मुझे चिं’ता है कि हमारा देश चुनाव परिणाम को लेकर अलग-अलग रुख रख सकता है, जिससे नागरिक अशां’ति का खतरा है।” इसके साथ ही जकरबर्ग ने और भी कंपनियों को सलाह देते हुए कहा, “इसी के साथ हमारी जैसी कंपनियों को पहले उठाए गए कदमों से और आगे बढ़ने की जरूरत है।” जकरबर्ग ने कहा, “फेसबुक के लिए अगला हफ्ता अग्निप’रीक्षा की तरह होगा। हमने को कार्य किए हैं, उसको लेकर मुझे ग’र्व है।”
Mark Zuckerberg
उन्होंने आगे कहा, “मैं जानता हूं कि हमारा काम 3 नवंबर के बाद भी रूकेगा नहीं। इसलिए हम लोकतां’त्रिक प्रक्रि’या की अखं’डता और लोगों की आवाज की रक्षा के लिए ल’ड़ना और नए ख’तरों का आकलन करते रहेंगे।” मालूम हो कि इससे पहले भी अमेरिका से लेकर कई अन्य देशों के चुनावों को प्रभा’वित करने के लिए फेसबुक पर कई तरह के इल्जा’म लगाए जा चुके हैं और कंपनी को इसके चलते काफी खरी खो’टी सुनने को मिली थी। वहीं अब कंपनी ने इस मु’द्दे को लेकर कड़े क़दम उठाने का फैसला किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.