अफगानिस्तान में तालिबान Taliban तेजी के साथ शहरों कब्जा जमाते जा रहे हैं अब तक मिली जानकारी के अनुसार 19 प्रांतों पर तालिबान का क’ब्जा हो चुका है। हेरात के शेर कहे जाने वाले इस्माइल खान भी तालिबान के सामने हथियार डालने पर मजबूर हो गए और तालिबान के साथ शामिल हो गए इस वक्त मजार शरीफ पर कब्जे को लेकर जबरदस्त जं’ग चल रही है उधर अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने कहा है वह आखरी वक्त तक तालिबान से लड़ते रहेंगे ।

तालिबान के बढ़ते कदम को देखते हुए ऐसा लग रहा है हालिया कुछ दिनों में तालिबान काबुल पर हम’ला कर सकते हैं जिसकी वजह से दूसरे देशों ने अपने दूतावास को बंद करना शुरू कर दिया है डेनमार्क में अपने तमाम लोगों को वापस बुला लिया है और जर्मनी ने संख्या कम कर दी है न्यूयॉर्क टाइम के अनुसार काबुल पर हमले को देख अमेरिका ने तालिबान से फरियाद की है काबुल हमले के वक्त उनके दूतावास पर हमला न किया जाए बल्कि उसको छोड़ दिया जाए ।

आपको बता दें अमेरिका अफगानिस्तान में तालिबान की बढ़ती हुकूमत से अमेरिका भी सहमा हुआ है कतर की राजधानी दोहा में जारी वार्ता के दौरान अमेरिकी अधिकारियों ने तालिबान से लड़ाई के दौरान अपने दूतावास को छोड़ने को कहा उन्होंने कहा कि हम तालिबान से काबुल पर हमले के दौरान अपने दूतावास की सुरक्षा का आश्वासन मांग रहे हैं उन्होंने कहा कि हम आश्वासन चाहते हैं कि वे काबुल में अमेरिकी दूतावास पर हमला नहीं करेंगे लेकिन अभी तक इस पर तालिबान के कोई जवाब नही आया है ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.