उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की शुरुआत 10 फ़रवरी से होने जा रही है कोरोना संक्रमण के चलते चुनाव प्रचार के लिए रैलियों या सभाओं का आयोजन चुनाव आयोग द्वारा रोक लगाने के बाद इसका आयोजन नहीं किया जा रहा है लिहाजा नेता घर-घर जाकर लोगों से अपने लिए वोट मांग रहे हैं शनिवार को देश के गृह मंत्री और बीजेपी नेता अमित शाह कैराना पहुंचे थे जहां उन्होंने डोर टू डोर कैंपेन किया उनकी कई त’स्वीरें ऐसी सामने आईं है जिसमें वो बगैर मास्क के चल रहे हैं।

इस तस्वीर के सामने आने के बाद समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बीजेपी पर हमला बोला है न्यूज24 को दिए इंटरव्यू में अखिलेश यादव से जब पूछा गया कि बीजेपी के नेताओं ने कैराना, मुजफ्फरनगर, में कैंपेन शुरू कर दिया जेपी नड्डा और अमित शाह डोर-टूट डोर कैंपेन कर रहे हैं, क्या पश्चिमी उत्तर प्रदेश में बीजेपी का यही एजेंडा है? इस पर जवाब देते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि चुनाव आयोग ने वहां की तस्वीरों और वीडियो को देखा होगा इन चीजों को ज़रूर नोटिस में लेगा।

यही नहीं अखिलेश यादव ने यहां तक कहा भारतीय जनता पार्टी के सीनियर नेता बिना मास्क के कैराना में कोरोना फैलाने गये थे उन्हीने कहा जनता की इतनी नाराजगी है कि इन्हें गली-गली जाना पड़ रहा है इन्होंने झूठे प्रचार करने के लिए फ्लाईओवर बंगाल का, कारखाने अमेरिका का, जेवर के एअरपोर्ट को चीन का एअरपोर्ट दिखाया ये झूठे प्रचार के भरोसे जनता के बीच जा रहे हैं गली-गली घूम रहे हैं क्योंकि इन्होंने कोई काम नहीं किया है।

आपको बता दें कि कोरोना संक्रमण के चलते चुनाव आयोग ने रैलियों रोड शो और जनसभाओं पर रोक लगाई हुई है हालांकि आयोग ने पांच लोगों को घर घर प्रचार करने और वोट मांगने की अनुमति दी है।