पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक माहौल पूरी तरह से बन चुका है। एक तरफ जहां भारतीय जनता पार्टी पूरा जोर लगा रही है। दूसरी तरफ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी पूरा मोर्चा अपने हाथों में संभाले हुए नजर आ रही हैं।इसी बीच 11 फरवरी को इंडिया टुडे कांक्लेव 2021 में देश के गृह मंत्री अमित शाह ने राज्य के चुनाव को लेकर बड़ी बात बोली है। अमित शाह का दावा है कि इस बार पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी 200 से ज्यादा सीटों पर जीत हासिल कर पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने जा रही है। लोग सोचेंगे कि मैं क्या क्या बोल रहा हूं। लेकिन मैं यह पूरे आत्मविश्वास के साथ कह रहा हूं कि पश्चिम बंगाल में भाजपा बहुमत से सरकार बनाएगी।

बंगाल की जनता भाजपा के साथ है। वही इस सवाल पर भी अमित शाह ने जवाब देते हुए कहा है कि पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री बंगाल की धरती से ही चुना जाएगा। क्या कोई टीएमसी से भाजपा में आया नेता भी मुख्यमंत्री बन सकता है। तो इस सवाल का जवाब देते हुए अमित शाह ने कुछ भी स्पष्ट नहीं किया है। उन्होंने यही दोहराया है कि मुख्यमंत्री कोई भी बने लेकिन वह पश्चिम बंगाल की धरती से ही होगा। इसके साथ इस कॉन्क्लेव में अमित शाह ने CAA यानी ना’गरिकता सं’शो’धन कानून पर भी बात की। उन्होंने कहा कि CAA देश की संसद का बनाया हुआ कानून है।

इसको लागू किया जाना है और लागू करने का ये काम ममता सरकार को नहीं, BJP सरकार को करना है। इसके साथ ही गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि अप्रैल के बाद बंगाल में सरकार बदल जाएगी और CAA लागू किया जाएगा। शरणार्थियों को ना’गरिकता दी जाएगी। आपको बता दें कि गृह मंत्री अमित शाह से पहले भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा पश्चिम बंगाल के दौरे पर पहुंचे हुए थे। जहां उन्होंने तृणमूल कांग्रेस पर तीखे ह’मले बोले थे।

बता दें कि पश्चिम बंगाल में होने वाले चुनावों की नंदीग्राम सीट पर भाजपा और टीएमसी के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिलने वाला है। क्योंकि यह विधानसभा सीट दोनों पार्टियों के लिए साख का सवाल बन चुकी है। जहां नंदीग्राम सीट से टीएमसी की तरफ से ममता बनर्जी चुनावी दंगल में उतरी है। वहीं भाजपा ने ममता बनर्जी को कड़ी टक्कर देने के लिए पूर्व टीएमसी सांसद और ममता बनर्जी के करीबी माने जाने वाले शुभेंदु अधिकारी को टिकट दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.