अफगानिस्तान में विदेशी फौजियों और अमेरिकी फौजियों के वापसी के एलान के बाद ता’लि’बान ने बिजली की तरह कुछ ही दिनों में पूरे अफगानिस्तान पर क़’ब्ज़ा कर लिया आपको बता दें अमरीका ने अफगानिस्तान पर ता’लिबा’न और अलक़ायदा को ख’त्म करने का एलान करके हम’ला किया था बीस साल बाद आखिरकार अमरीका ने खुद ता’लि’बान से समझौता करके अफगानिस्तान से मुश्किल से निकल पाया है अब ता’लिबा’न को लेकर लोगों को जो ड’र था वो धीरे धीरे खत्म हो रहा है ।

ता’लि’बान द्वरा काबुल पर क़ब्ज़े के बाद एलान ने सबको चौंका दिया था उन्होंने सबको माफ करने का एलान कर दिया था क्योंकि लोगो को ड’र था ता’लिबा’न क़ब्ज़े के बाद अपने दुश्म’नों को चु’न चु’न कर मा’रेंगे ता’लिबा’न ने जनरल रशीद दोस्तम के लिए भी एलान किया था अगर वो भी गिर’फ्ता’र हुए तो उनको भी मा’फ मार दिया जाएगा लेकिन वो देश छोड़ कर फरार हो गये इस एलान से लोग सो’च में पड़ गए क्या ये वही ता’लि’बान है जो बीस साल पहले थे क्योंकि 1996 में काबुल पर क़ब्ज़े के बाद उन्होंने उस वक़्त के प्रधा’नमंत्री को मा’रकर चौराहे पर लट’का दिया था ।

एक बार फिर ता’लिबा’न ने अमरुल्लाह सालेह और अशरफ गनी को लेकर एलान किया है तालिबान के केंद्रीय नेता खली’लुर्रहमान हक़्क़ा’नी का कहना है उनकी अब किसी से कोई दुश्म’नी नही है सबके लिये आम माफी है उन्होंने निजी टीवी चेंनल से बात करते हुए कहा अमरी’का से हम ने दुश्म’नी शुरू नही की थी उसने खुद शुरू की थी अमरीका ने हमारे ध’र्म और मुल्क से ज़्या’दती की थी इस लिए हम ने उसके खि’लाफ हथि’यार उठाया था । उन्होंने कहा जिसको भी अफगानिस्तान वापस आना है आ सकता है सबके लिये माफी है ।

उन्होंने अफगानिस्तान छोड़ कर जाने वालों से अपील की वो लोग न जाएं उनकी पूरी हिफा’ज़त की जाएगी वो देश की तरक़्क़ी में अपना रोल अदा करें इस्लाम अमन का मज़हब है सबको बरा’बर का हक़ मिलेगा