असम में कांग्रेस के इस दांव ने पलटा पूरा खेल, भाजपा के कोर वोटबैंक में सेंध की…

April 8, 2021 by No Comments

असम विधानसभा की 126 सीटों पर 3 चरणों में मतदान पूरा हो चुका है। दरअसल आसाम इकलौता ऐसा राज्य है। जहां पर भारतीय जनता पार्टी की जीत पक्की मानी जा रही है। दूसरी तरफ पश्चिम बंगाल और असम के चुनाव की चर्चा इस बार हिंदी बेल्ट में कुछ ज्यादा ही हो रही है।

इस बार असम में भले ही भाजपा की जीत के दावे किए जा रहे हैं। लेकिन कांग्रेस ने भाजपा को कड़ी टक्कर दी है कांग्रेस गठबंधन और भाजपा के बीच इस बार यह चुनावी लड़ाई सांप की लड़ाई बन चुकी है। ऐसे में विधानसभा चुनाव में एक और खास बात नजर आ रही है।

फोटो-गूगल सर्च


दरअसल असम विधानसभा चुनाव के मैदान में राजस्थान की राजनीति काफी छाई हुई है। क्योंकि राजस्थान के कई बड़े नेताओं ने असम में आकर कांग्रेस गठबंधन के लिए बढ़-चढ़कर चुनाव प्रचार किया है। असम के चुनाव में राजस्थान के नेता भाजपा और कांग्रेस गठबंधन के लिए अपनी राजनीति की भूमिका निभाते हुए नजर आ रहे हैं।

इसीलिए राज्य का चुनाव इस बार राजस्थान के नेताओं के आस पास होता हुआ नजर आया है। इस मामले में असम प्रभारी कांग्रेस की चुनावी बागडोर एआईसीसी के महासचिव भंवर जितेंद्र सिंह ने थाम रखी है। भंवर जितेंद्र सिंह के साथ ही छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी कुछ प्रभावी राजस्थानी नेताओं की मदद से कांग्रेस से गठबंधन में अपनी अच्छी खासी भूमिका बनाने की कोशिश की है।

दूसरी तरफ कांग्रेस गठबंधन के उम्मीदवारों के समर्थन में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पीसीसी चीफ गोविंद डोटासरा व वरिष्ठ मंत्री बीडी कल्ला ने असम के दो दिवसीय दौरा किया। साथ ही, प्रवासी राजस्थानियों को आकर्षित करने की कोशिश की। बता दें कि असम में रहने वाले राजस्थानी मूल के लोगों को बीजेपी का जनाधार माना जाता है।

बात अगर भाजपा की करें तो, उसकी तरफ से राजस्थान का कोई बड़ा नेता नहीं आया, लेकिन फिर भी कई प्रवासी यहां प्रचार अभियान में जुटे रहे। आपको बता दें कि असम विधानसभा चुनाव के नतीजे 2 मई को अन्य राज्यों के नतीजों के साथ घोषित किए जाएंगे। इस बार के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के बीच कड़ी टक्कर होने का दावा किया जा रहा है।

दरअसल असम विधानसभा चुनाव जीतने के लिए दोनों राजनीतिक दलों के दिग्गज नेता राज्य में बड़ी-बड़ी चुनावी रैलियां कर चुके हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *