चुनाव के बाद फूट के डर से कांग्रेस ने उठाया बड़ा कदम, 22 नेताओं को किया…

April 9, 2021 by No Comments

असम में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे आने में अभी देर है। लेकिन राज्य में सियासत एक बार फिर से गरमा गई है। असम विधानसभा चुनाव के नतीजे बाकी के राज्यों के साथ 2 मई को ही घोषित किए जाएंगे। लेकिन इससे पहले ही कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्षी गठबंधन को अपने विधायकों की खरीद-फरोख्त का ड’र स’ताने लगा है।

बताया जा रहा है कि विपक्षी गठबंधन ने अपने 22 उम्मीदवारों को जयपुर में शिफ्ट कर दिया है और उन्हें यहां एक होटल में सुरक्षित रखा गया है। दरअसल विपक्षी खेमे को यह ड’र सताने लगा है कि 2 मई को चुनाव नतीजों के बाद भारतीय जनता पार्टी विधायकों की खरीद-फरोख्त करने वाली है।

इसलिए ऐसी किसी भी सं’भा’वना को फेल करने के लिए पहले ही कांग्रेस इसने अपनी पार्टी के विधायकों को राजस्थान पहुंचा दिया है।
बताया जा रहा है कि असम में कांग्रेस के नेतृत्व में बने विपक्षी गठबंधन को महा जोत का नाम दिया गया है जिन्हें जयपुर पहुंचाया जा चुका है।

उनमें एआईयूडीएफ के मौलाना बदरुद्दीन अजमल की पार्टी और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट के साथ-साथ वाम दलों के उम्मीदवार भी शामिल है। इसके साथ ही कांग्रेस शासित राज्य में इन सभी को राजधानी के उसी रिसोर्ट में रखा गया है। जहां पर बीते साल जुलाई में पार्टी के आंतरिक कलह के दौरान सभी विधायकों को रखा गया था। तब सचिन पायलट ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ मोर्चा खोल रखा था।

असम में विधानसभा चुनाव के लिए तीन चरणों में वोट डाले गए हैं। 2 मई को पश्चिम बंगाल, तमिल नाडु, केरल और पुडुचेरी के साथ यहां भी चुनाव के नतीजे आएंगे। 2016 के विधानसभा चुनाव में पहली बार बीजेपी को जीत मिली थी। जिसके बाद सर्बानंद सोनोवाल के नेतृत्व में बीजेपी ने सरकार बनाई थी।

गौरतलब है कि असम इकलौता ऐसा राज्य माना जा रहा है जहां पर भारतीय जनता पार्टी इनकी जीत के दावे किए जा रहे थे।
कई ओपिनियन पोल और सर्वे में भी ये कहा गया है कि असम में दोबारा भारतीय जनता पार्टी की सरकार बन सकती है। लेकिन जब राज्य में चुनाव हुए तो कांग्रेस ने भारतीय जनता पार्टी को कड़ी टक्कर दी है।

माना जा रहा है कि इस बार राज्य में कांग्रेस की सरकार बन सकती है। लेकिन भाजपा द्वारा विधायकों की खरीद-फरोख्त की वजह से कांग्रेस ने पहले ही अपने विधायकों को सुरक्षित जगह पहुंचा दिया है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *