लखनऊ: समाजवादी पार्टी के क़द्दावर नेता आज़म ख़ान की सेह’त पिछले दिनों काफ़ी ख़राब हो गई थी. कोरोना संक्रमित होने के बाद उन्हें ICU में भी एडमिट करना पड़ा था. दूसरी ओर ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सचिव जफरयाब जिलानी को मंगलवार दोपहर बाद डिस्चार्ज कर दिया गया है। समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खां की हालत में मामूली सुधार हुआ है। उन्हें आईसीयू से सामान्य वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है।

कोरोना वायरस की चपेट में आने के बाद आजम खां और उनके बेटे अब्दुल्ला को सीतापुर जेल से 9 मई को मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था. यहां दोनों की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आ गई लेकिन अचानक आजम खां की किडनी में संक्रमण पाया गया। ऐसी स्थिति में उन्हें दोबारा आईसीयू में भर्ती करना पड़ा था। हालांकि, दो दिन से उनकी भी हालत में लगातार सुधार हुआ है।

मंगलवार दोपहर बाद उन्हें आईसीयू से सामान्य वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया। उनकी निगरानी नेफ्रोलॉजी और क्रिटिकल केयर टीम कर रही है। वहीं, ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सचिव एवं वरिष्ठ अधिवक्ता जफरयाब जिलानी को मंगलवार दोपहर बाद डिस्चार्ज कर दिया गया है। अधिवक्ता जिलानी 20 मई को घर में बेहोश हो गए थे। मेदांता हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।

जहां उनके ब्रेन में खून के थक्के जमे हुए पाए गए। सर्जरी विभाग की टीम ने सर्जरी कर खून के थक्के को हटाया। इस दौरान वह वेंटिलेटर पर रहे। उनकी कोरोना जांच रिपोर्ट भी पॉजिटिव पाई गई थी। करीब सप्ताह भर बाद रिपोर्ट निगेटिव आई। मंगलवार को उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.