उत्तर प्रदेश विधानसभा 2022 चुनाव की तैयारी को लेकर तमाम पार्टियां मैदान में उतर चुकी है और लोग अपने अपने मुद्दों पर सियासत करना शुरू कर दिए हैं आपको बता दें हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन भी यूपी चुनाव में किस्मत आजमाने की तैयारी कर रही है जिस की तैयारी को लेकर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने पुराना मुद्दा फिर से उठाना शुरू कर दिया है ।

आपको बता दें शुक्रवार को ओवैसी ने अयोध्या में बाबरी मस्जिद को गिराने जाने के मुद्दे उठाते हुए भाजपा पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा जब तक हम जिंदा रहेंगे कौम को बताते रहेंगे कि बीजेपी ने बाबरी मस्जिद को शहीद किया उन्होंने आज तक न्यूज़ चैनल के एक कार्यक्रम के दौरान कही उन्होंने कहा अगर बाबरी मस्जिद शहीद नहीं की जाती तो क्या कोर्ट ऐसा ही फैसला देता उन्होंने कहा कि कोर्ट के फैसले को सही से पढ़ा जाए।

ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कहा बाबरी मेरी मस्जिद थी और हमेशा रहेगी उन्होंने कहा मैं तो इस बारे में खुलकर कहा हूं और आज भी कह रहा हूं जब तक हम जिंदा रहेंगे अपनी नस्लों को हम बताते रहेंगे। आजाद भारत में सुप्रीम कोर्ट को धोखा दे कर बाबरी मस्जिद को बीजेपी ने शहीद किया था अगर बीजेपी वहां मस्जिद शहीद नहीं करती तो क्या ये आज का फैसला आता वह मेरी मस्जिद थी और रहेगी।

उन्होंने उत्तर प्रदेश में अल्पसंख्यकों के शिक्षक स्तर पर भी बात की उन्होंने कहा उत्तर प्रदेश में अल्पसंख्यकों की शिक्षा का स्तर बेहद कम है उनको आगे बढ़ने के लिए अपनी राजनीतिक आवाज उठाने की जरूरत है उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार से सवाल किया कि उन्होंने 5 साल में अल्पसंख्यकों को आगे बढ़ाने के लिए क्या किया है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.