बीबीसी की एक गलती ने पंजशीर में तालि’बान का काम किया आसान, अहमद मसूद के प्रवक्ता को….

September 7, 2021 by No Comments

पंजशीर घाटी हमेशा किसी भी हम’ले और शासन से दूर रहा है आपको बता दें अफगानिस्तान में तालि’बान की वापसी के बाद सिर्फ पंजशीर ही ऐसी घाटी थी जहां पर तालिबान का कंट्रोल नहीं था लेकिन रविवार को ता’लिबान ने पंजशीर घाटी पर क’ब्जा कर लिया है अब तालि’बान का पूरे अफगानिस्तान पर कब्जा हो गया है शुरू में तालिबान और अहमद मसूद के बीच बातचीत का दौर जारी था लेकिन बातचीत के नाकामी के बाद तालि’बान ने पंजशीर घा’टी पर तीन तरफ से हम’ला बोल दिया ता’लिबान का कहना था अहमद मसूद अफगान सरकार में 30 % सरकार में हिस्सा चाह रहे हैं जिस पर ता’लिबान राजी नहीं हुआ।

पंजशीर में रविवार रात ता’लिबान की तरफ से किए गए हम’ले में ताजिक मूल के विद्रोही नेता अहमद मसूद को बड़ा झ’टका लगा है उनके प्रवक्ता फहीम दस्ती और शीर्ष कमांडर जनरल साहिब अब्दुल वदूद की मौ’त हो गई है लेकिन सोशल मीडिया में ऐसी चर्चा चल रही है की फहीम दस्ती के बारे में तालि’बान को जानकारी कैसे मिली अब रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि विद्रोही सेना की ओर से प्रवक्ता और अहमद मसूद के साथी फहीम दस्ती बीबीसी को इंटरव्यू दे रहे थे ।

इंटरव्यू देते समय उनका वीडियो कट गया और उनके सेटेलाइट फोन का नंबर दिखने लगा दा’वा किया जा रहा है इसी नंबर को ट्रेस करके तालि’बान उन तक पहुंच गया और ड्रो’न हम’ले में फहीम और उनके साथी को निशाना बना लिया गया जबकि तालिबान की तरफ से जारी किए गए बयान में कहा गया फहीम दस्ती को तालि’बान ने नहीं मारा है बल्कि उनकी आपस की लड़ा’ई में फहीम दस्ती मारा गया है ।

अहमद मसूद की तरफ से जारी बयान में कहा गया है की पंजशीर घाटी में जारी खू’नी खेल ख’त्म करने के लिए उलामा की तरफ से आए प्रस्ताव का स्वागत किया गयाहै और वह तालि’बान से बातचीत करने के लिए तैयार हैं और उन्होंने पंजशीर घाटी पर पूरी तरह ता’लिबान के क’ब्जे का इनकार किया है उन्होंने कहा अभी लड़ा’ई जारी है जबकि आखरी वक्त तक लड़’ने की बात करने वाले अमरुल्लाह सालेह के बारे में रिपोर्ट में बताया जा रहा है वो फ्रांस भाग गए हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.