बंगाल उपचुनाव से पहले ममता देंगी भाजपा को दूसरा बड़ा झटका, बाबुल सुप्रियो के बाद ये दिग्गज नेता भी…

September 21, 2021 by No Comments

पश्चिम बंगाल में जल्द ही अब चुनाव होने वाले हैं। जिसके लिए तृणमूल कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी अपनी अपनी रणनीतियां बनाने में जुटी हुई है। इसी बीच पश्चिम बंगाल में नेताओं के दल बदलने का सिलसिला भी शुरू हो गया है।

इसी बीच भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने भी भाजपा छोड़ दी है। जिसके बाद उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाकात की है। मुलाकात करने के बाद तृणमूल कांग्रेस के नेता बाबू सुप्रियो ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का जमकर गुणगान किया है। उनका कहना है कि ममता बनर्जी की बातें मेरे कानों में संगीत की तरह गुजर रहे हैं।

दरअसल शनिवार को पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री और आसनसोल से सांसद बाबुल सुप्रियो ने भाजपा का साथ छोड़कर तृणमूल कांग्रेस का दामन थामा। बाबुल सुप्रियो ने पार्टी के राष्ट्रीय सचिव अभिषेक बनर्जी और राज्य सभा सांसद डेरेक ओ ब्रायन की मौजूदगी में तृणमूल कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की थी।

टीएमसी की सदस्यता लेने के बाद बाबुल सुप्रियो कोलकाता के नबान्ना स्थित मुख्यमंत्री सचिवालय में सीएम ममता बनर्जी से मिलने पहुंचे थे। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मुलाक़ात के बाद पूर्व भाजपा नेता बाबुल सुप्रियो ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि मुझे दीदी से मिलकर बहुत खुशी हुई है। उन्होंने बहुत ही गर्मजोशी के साथ मेरा तृणमूल में स्वागत किया।

उन्होंने मुझे पूरे मन से काम करने और पूरे दिल से गाने के लिए कहा है। साथ ही उन्होंने मुझे कहा कि यह पूजा(दुर्गा पूजा) का समय है और आप गाना गाइए। अब खबर सामने आ रही है कि भारतीय जनता पार्टी के एक और विधायक ने चेतावनी दी है कि वह जल्द ही भाजपा छोड़कर किसी अन्य राजनीतिक दल में जा सकते हैं।

आपको बता दें कि रायगंज से भाजपा विधायक कृष्ण कल्याणी ने पार्टी नेतृत्व के खिलाफ अपनी नाराजगी व्यक्त करते हुए रविवार को कहा कि अगर उनकी शिकायतों का समाधान नहीं किया गया तो वह जल्द ही अपने राजनीतिक भविष्य का फैसला करेंगे। वहीं, इसके बाद उनके टीएमसी में शामिल होने की अटकलें भी तेज हो गई है।

भाजपा नेता कृष्ण कल्याणी ने कहा है कि मैंने पार्टी के सभी कार्यक्रमों से खुद को दूर कर लिया है और मैंने मुद्दों के समाधान के लिए एक समय सीमा दी है, अन्यथा मुझे सोचना होगा।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *