बंगाल चुनाव पर अब शुभेंदु अधिकारी ने किया बड़ा खुलासा, बोले-भाजपा इसलिए हारी क्यूंकि…

July 19, 2021 by No Comments

साल 2021 में देश के 5 बड़े राज्य में विधानसभा चुनाव हुए थे जिनमें से एक है। पश्चिम बंगाल पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी को तृणमूल कांग्रेस ने कड़ी शिकस्त दी है। भारतीय जनता पार्टी के बड़े-बड़े दावों को तृणमूल कांग्रेस ने अपनी जीत से पूरा नहीं होने दिया।

तृणमूल कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने वाले शुभेंदु अधिकारी ने बंगाल में भाजपा की हुई हार पर पहली बार बड़ी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा है कि कुछ नेताओं के ओवरकॉन्फिडेंस की वजह से भाजपा को चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है। गौरतलब है कि शुभेंदु अधिकारी तृणमूल कांग्रेस में रहते हुए ममता बनर्जी के करीबी माने जाते थे।

उन्होंने नंदीग्राम सीट से ममता बनर्जी के खिलाफ ही भाजपा से चुनाव लड़ा। अब वह बंगाल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष के तौर पर मूल कांग्रेस को घेर रहे हैं। शुभेंदु अधिकारी ने कहा है कि भारतीय जनता पार्टी में कुछ नेता यह मानकर बैठ गये कि पार्टी चुनाव में 170 से 180 सीटें जीत रही है।

आत्ममुग्ध इन नेताओं ने अति आत्मविश्वास में जमीन पर कोई काम नहीं किया। फलस्वरूप पार्टी को चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ा। पूर्वी मेदिनीपुर के टीएमसी कद्दावर नेता रहे शुभेंदु अधिकारी ने अपने गृह जिला के चंडीपुर में पार्टी की एक मीटिंग में ये बातें रविवार को कहीं।

इसके साथ ही शुवेंदु अधिकारी ने यह भी कहा है कि इन्हें कुछ नेताओं की वजह से भाजपा जमीनी स्तर पर उतना काम नहीं कर पाई। जितना होना चाहिए था। भाजपा को पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में इसका खामियाजा भुगतना पड़ा है। शुरू के 2 चरणों में हमने काफी अच्छा प्रदर्शन किया और इसके बाद हमारे कुछ नेता आत्ममुग्ध ही नहीं ओवरकॉन्फिडेंस में आ गए कि भाजपा की ही जीत होगी।

इन्होंने यह मान लिया था कि भाजपा 170 से 180 सीटों पर जीत हासिल करने जा रही है। इसकी कीमत हमें चुकानी पड़ी। यदि हमने जमीनी स्तर पर मेहनत की होती। तो पार्टी ने जो लक्ष्य तय किया था।

हम उसके करीब पहुंच सकते थे। उन्होंने कहा कि टार्गेट सेट करने के साथ-साथ ग्राउंड लेवल पर काम करना जरूरी था। पार्टी ने जो लक्ष्य तय किया था, वह असंभव नहीं था। अगर हमने कड़ी मेहनत की होती, तो पार्टी सरकार बना सकती थी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *