पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव में कुछ ही दिन बचे है सभी पार्टियों ने अपनी कमर कस ली है सभी पश्चिम बंगाल चुनाव पर सभी की नज़रे टिकी हुई है सभी पार्टिया अपने चुनावी वादों से जनता को लुभाने का पूरा प्रयास कर रही है वही एक दूसरे पर निशाना साध रही है, इसी बिच भाजपा ने भी एक बड़ा दाव खेल दिया है जिससे सभी पार्टियों में हलचल सी मच गई है.

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव की सियासी जंग में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को घेरने में भारतीय जनता पार्टी ने कोई कसर नहीं छोड़ रही है. भाजपा ने बंगाल चुनाव को अपनी प्रतिष्ठा का मुद्दा बना लिया है.बंगाल चुनाव जीतने के लिए भाजपा अपनी हर बड़ी चाल चल रही है. इसी वजह से भाजपा ने बंगाल विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो, सांसद लॉकेट चटर्जी, निशीथ प्रामाणिक और राज्यसभा सदस्य स्वपन दासगुप्ता को विधानसभा चुनाव में उम्मीदवार बनाकर मैदान में उतारा है. बीजेपी ने अपने चार सांसदों को ऐसे ही विधानसभा का प्रत्याशी नहीं दिया बल्कि उनके जरिए बंगाल के चार रीजन के समीकरण साधने की रणनीति के तहत यह दांव खेला है जिससे सभी पार्टिया सकते में आ गई है.

भाजपा महासचिव अरुण सिंह ने रविवार को बंगाल चुनाव के लिए 63 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी की है. पार्टी ने तीसरे चरण के लिए 27 प्रत्याशियों के नाम की घोषणा की है, जबकि चौथे चरण के लिए पार्टी ने 36 उम्मीदवारों के नामों की सूची जारी है. केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो को टॉलीगंज विधानसभा सीट से, हुगली से सांसद लॉकेट चटर्जी को चुंचुड़ा विधानसभा सीट से उम्मीदवार बनाया है. ऐसे ही कूचबिहार से पार्टी के सांसद निसिथ प्रामाणिक को दिनहाटा विधानसभा क्षेत्र से उम्मीदवार बनाया गया है जबकि राज्यसभा सदस्य स्वपन दासगुप्ता तारकेश्वर सीट से प्रत्याशी होंगे.

भाजपा ने इन उमीदवारो के ज़रिया बड़ा दाव चला है जिससे बंगाल में अपनी सत्ता पा सके, बाबुल सुप्रियो के सहारे साउथ 24 परगना पर दांव खेला है बाबुल सुप्रियो को टॉलीगंज विधानसभा सीट से प्रत्याशी बनाया है. टॉलीगज विधानसभा क्षेत्र दक्षिण 24 परगना जिला और जादवपुर संसदीय क्षेत्र के तहत आता है. यह टीएमसी की परंपरागत सीट मानी जाती है. पिछले तीन चुनाव से लगातार पार्टी यहां से जीत का परचम लहरति आ रही है. ममता बनर्जी के करीबी नेताओं में माने जाने वाले अरूप विश्वास टॉलीगंज सीट सँभालते हैं और इस बार चौथी मर्तबा जीत की उम्मीद लेकर मैदान में हैं. इस सीट पर लेफ्ट और टीएमसी के बीच अभी तक यहां की चुनावी जंग होती रही हैं, लेकिन भाजपा यहाँ अपना दाव खेलकर मुकाबले को त्रिकोणीय बना दिया है.


लॉकेट चटर्जी के सहारे हुगली रीजन पर दाव खेला और वही कूचबिहार के लिए निसिथ प्रामाणिक को उमीदवार बनाया है.भाजपा ने अपने राज्यसभा सांसद स्वपन दासगुप्ता को बंगाल की तारकेश्वर विधानसभा सीट से प्रत्याशी बनाया है. यह सीट 2011 के बाद से टीएमसी के लिए काफी अहम और मजबूत मानी जाती है. रचापाल सिंह साल 2011 से लगातार विधायक हैं और हैट्रिक लगाने की तैयारी से मैदान में उतरे हैं. वहीं, भाजपा से स्वपन दासगुप्ता पहली बार चुनावी राजनीति में किस्मत आजमाने के लिए मैदान में उतरे हैं और पार्टी के काफी महत्वपूर्ण नेता माने जाते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.