लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के नतीजे आ गए हैं. भाजपा ने उत्तर प्रदेश में बहुमत हासिल कर लिया है. भाजपा को 255 सीटों पर कामयाबी हासिल हुई है जबकि उसकी सहयोगी निषाद को 6 और अपना दल (सोनेलाल) को 12 सीटों पर जीत मिली है.सपा को 111, रालोद को 8 और सुभासपा को 6 सीटों पर जीत मिली है. कांग्रेस को 2 और बसपा को एक सीट मिली है, 2 सीटें जनसत्ता दल लोकतान्त्रिक भी मिली हैं.

भाजपा की इस प्रचंड लहर में भी भाजपा के कुछ दिग्गज चुनाव में हार गए. सिराथू से केशव प्रसाद मौर्या को हार मिली है. बड़बोले बयानों के लिए जाने जाने वाले केशव प्रसाद मौर्या उत्तर प्रदेश सरकार में उप-मुख्यमंत्री हैं लेकिन उनकी हार हो गई है.सपा की डॉ पल्लवी पटेल ने केशव प्रसाद मौर्या को सीधे मुक़ाबले में हरा दिया. पल्लवी को 105838 वोट मिले जबकि मौर्या को 98361 वोट ही मिले.

भाजपा के अलावा कांग्रेस के भी एक दिग्गज को हार मिली है. तमकुही राज से अजय कुमार सिंह लल्लू को यहाँ बड़ी हार मिली. यहाँ से भाजपा के आसिम कुमार ने चुनाव जीता. आसिम को 115123 वोट मिले जबकि सपा के उदय नारायण को 48651 वोट मिले. अजय कुमार लल्लू तीसरे नम्बर पर रहे. उन्हें महज़ 33496 वोट ही मिले.

शामली की कैराना विधानसभा को भाजपा ने प्रतिष्ठा बनाया हुआ था लेकिन यहाँ उसकी हार हुई है. यहाँ से सपा के नाहिद हसन चुनाव जीते हैं. नाहिद के मुक़ाबले भाजपा की मृगंका सिंह थीं जिन्हें 25 हज़ार से भी अधिक वोटों से हार मिली है. इस सीट पर भाजपा के कई बड़े नेताओं ने प्रचार किया था जबकि नाहिद ख़ुद जेल में हैं. उनकी बहन इकरा हसन ने प्रचार का ज़िम्मा संभाला था.

ख़बर है कि उत्तर प्रदेश के पश्चिम में पड़ने वाली कांठ से सपा के कमाल अख्तर 40 हजार से भी अधिक वोटों से आगे चल रहे हैं. वहीं पूर्व के बलरामपुर में शहर सीट भाजपा ने जीत ली है जबकि गैंसड़ी में सपा के एसपी यादव चुनाव जीत गए हैं.

पंजाब चुनाव: पंजाब में विधानसभा चुनाव के चौंकाने वाले नतीजे आए हैं. यहाँ आम आदमी पार्टी ने बहुमत हासिल कर लिया है और पार्टी के नेता भगवंत मान के नेतृत्व में जल्द ही आम आदमी पार्टी की सरकार बनने जा रही है. राज्य की 117 विधानसभा सीटों में से आम आदमी पार्टी ने 92 सीटों पर या तो जीत हासिल कर ली है या बढ़त बनाए हुए है. वहीं दूसरे स्थान पर कांग्रेस पार्टी है. कांग्रेस को राज्य में 18 सीटें मिलती दिख रही हैं.

अकाली दल को 3 और भाजपा को दो सीटें मिलती दिख रही हैं. बसपा को एक सीट और एक सीट निर्दलीय उम्मीदवार के खाते में जाती दिख रही है. आम आदमी पार्टी को राज्य में 42% से भी अधिक वोट मिला है जबकि कांग्रेस को 22.9% वोट मिला है वहीं अकाली दल को भी 18% वोट मिला है. पंजाब में इस बार कई बड़े दिग्गज नेताओं का क़िला ध्वस्त हो गया.