बीते दिनों से उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के नेता वसीम रिजवी का नाम काफी सुर्खियों में बना हुआ है। दरअसल उन्होंने इ’स्लाम की प’वित्र किताब कुरान से कुछ आयतें हटाने की मांग की है। बताया जाता है कि कुरान से 26 आयतें हटाने की मांग के मामले में अब वसीम रिजवी की भाजपा नेता और बिहार के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन द्वारा निं’दा की गई है। भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन का कहना है कि कुरान में से 26 आयतें हटा ने को लेकर वसीम रिजवी द्वारा जो भी मांगे की जा रही है।

भारतीय जनता पार्टी उससे बिल्कुल भी सहमत नहीं है। क्योंकि भाजपा ने कभी भी कुरान शरीफ समेत अन्य धा’र्मिक और प’वित्र ग्रंथों का सम्मान किया है। पार्टी इसलिए वसीम रिजवी के कुरान शरीफ से किसी भी आयात को हटाए जाने के विचार से बिल्कुल भी सहमत नहीं है। शाहनवाज़ हुसैन ने भाजपा नेता वसीम रिजवी की इस मांग को बिल्कुल बे’हू’दा बताया है। उन्होंने कहा है कि इसकी जितनी भी निं दा की जाए उतनी कम है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि भारतीय जनता पार्टी किसी भी धा’र्मिक ग्रंथ से इस तरह की छेड़छाड़ किए जाने के बिलकुल खिलाफ है।

वसीम रिजवी के खिलाफ मिल रही शि’काय’तों के बाद अब सरकार के राष्ट्रीय अ’ल्पसं’ख्यक आयोग ने रिजवी के खि’लाफ नोटिस जारी किया है।
रिजवी के जवाब के बाद आगे की का’नूनी का र्यवाही शुरू की जाएगी। उत्तर प्रदेश शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी ने कुरान शरीफ की 26 आयतों को ह टाने के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। दरअसल वसीम रिजवी का कहना है कि कुरान में शामिल इन 26 आयतें उसे आ’तंक’वाद फै’लता है। इन्हें पढ़ा कर ही मुस्लिम समुदाय में आ’तंकवा’दी तैयार किए जाते हैं। इसके साथ ही उन्होंने यह भी दावा किया है कि इन आयतों को कुरान में बाद में जोड़ा गया है।

वसीम रिजवी द्वारा दिए गए इस बयान पर राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ने उन्हें नो टिस भी जारी किया है।दरअसल वसीम रिजवी ने जब से सुप्रीम कोर्ट में यह दाखिल की है। तब से ही वह पूरे मुस्लिम समुदाय के निशाने पर आ चुके हैं और लोगों में उनके प्रति काफी गु स्सा नजर आ रहा है।

जुना अखाड़ा आया रिज़वी के समर्अथन में …
खिल भारतीय अखाड़ा परिषद के महामंत्री और जूना अखाड़े के अंतरराष्ट्रीय संरक्षक महंत हरि गिरि महाराज ने वसीम रिजवी की पहल को सराहा है और केंद्र, प्रदेश की सरकारों से उनको सु रक्षा मुहैया कराने का आग्रह किया है। पंच दशनाम जूना अखाड़े की सोमवार को हुई बैठक में कुरान की आयतों को हटाने की बात करने वाले वसीम रिजवी को दी जा रही ध मकि यों का मुद्दा उठाया गया। जूना अखाड़े के संरक्षक महंत हरि गिरि महाराज ने बताया कि वसीम की कुरान की कुछ आयतों को ह टाने की बात का स्वागत किया जाना चाहिए।

अगर वह समाज के हित में ऐसा सोचते हैं तो उनकी अभिव्यक्ति की स्वतं त्रता पर चोट पहुंचाने का किसी को भी हक नहीं दिया जाना चाहिए।
महंत हरि गिरि ने बताया कि मंगलवार को वह सभी 13 अखाड़ों के प्रतिनिधियों से भी इस मसले पर वार्ता करेंगे और वसीम का खुलकर समर्थन किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.