छपरा. बिहार में सियासी पारा उफ़ान पर है. टिकट मिलने और टिकट न मिलने का सिलसिला चल रहा है. जिसका टिकट कट जा रहा है वो बाग़ी हो रहा है और जिसको मिला वो चौड़ा हो जा रहा है. ख़बर ज़िले के अमनौर विधानसभा सीट की है. यहाँ भाजपा ने अपने निर्वार्त्मान विधायक का टिकट काट दिया. यहाँ से भाजपा नेता चोकर बाबा विधायक हैं लेकिन अब वो बाग़ी होते दिख रहे हैं.

शुक्रवार को विधायक समर्थकों ने पटना में हंगामा किया, तो शनिवार को अमनौर पहुंचे भाजपा विधायक चोकर बाबा ने महापंचायत लगाकर जनता से अपना दुख-दर्द बयां किया. चोकर बाबा ने आरोप लगाते हुए कहा कि उनका टिकट स्थानीय सांसद राजीव प्रताप रुड़ी की साजिश के चलते कटा है. इस साजिश में मंगल पांडेय और सुशील मोदी भी शामिल हैं.

उन्होंने कहा कि एक स्वच्छ छवि के विधायक का टिकट काटकर आपराधिक छवि के व्यक्ति को टिकट देकर पार्टी ने यह साफ कर दिया है कि अब उसको कार्यकर्ताओं की जरुरत नहीं है. उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा के वरिष्ठ नेताओं ने मिलकर उनका टिकट कटवा दिया है. जिसके कारण उन्होंने निर्णय लिया है कि अब वो आजीवन फलाहार पर ही रहेंगे. पार्टी ने उसे ही टिकट दिया जिसको उन्होंने हराया था.

चौकर बाबा ने कहा कि वह सिटिंग विधायक हैं इसलिए चुनाव की तैयारियों में जुटे हुए थे. क्षेत्र की जनता के लिए बाढ़ में भी काम कर रहे थे. प्रभावितों के रसोई चलाई. जहां हजारों लोगों को भोजन दिया गया. इस कारण क्षेत्र में उनकी लोकप्रियता लगातार बढ़ी और सांसद को यही बात खटकने लगी. जिसके कारण उनका टिकट कटवा दिया गया.

विधायक ने कहा कि वो संन्यासी की जिंदगी जीते हैं और अपना विरोध भी वो संन्यासी की तरह ही प्रकट करेंगे. बीजेपी में आंतरिक लोकतंत्र खत्म हो गया है. महापंचायत में मौजूद लोगों ने विधायक को समर्थन देते हुए निर्दलीय चुनाव लड़ने का आग्रह किया. जिसपर विधायक ने कहा कि वो जनता के निर्णय के साथ जाएंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.