अफगानिस्तान पर ता’लि’बान का कब्जा हो गया है वहीं दूसरी तरफ अफगानिस्तान के मशहूर क्रिकेटर राशिद खान टी20 टूर्नामेंट (द हंड्रेड क्रिकेट) में ट्रेंट रॉकेट्स का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं लेकिन उनकी सबसे बड़ी चिंता उनके अपने परिवार को लेकर है क्योंकि उनका परिवार अफगानिस्तान में ही है।

काबुल पर ता’लिबा’न के हम’ले के बाद रविवार रात अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी देश छोड़ कर भा’ग गए, जिसके बाद ता’लि’बान ने का’बुल पर क’ब्जा कर लिया। ता’लि’बान ने आम माफी की घोषणा की है, लेकिन लोग अभी भी अपने प्रियजनों के जीवन को लेकर चिंतित हैं रविवार को जब अफगानिस्तान के हा’लात ख’राब थे तो 22 साल के राशिद खान ने मैनचेस्टर ओरिजिनल्स के खिलाफ ट्रेंट रॉकेट्स के लिए 3 विकेट लिए और अपनी टीम के लिए मैच जितवाया।

 

पैटरसन ने ब्रिटिश ब्रॉडकास्टर स्काई स्पोर्ट्स को बताया, “राशिद खान बहुत परे’शान हैं। हमने सीमा रेखा पर अफगानिस्तान के मौजूदा स्थिति पर लंबी चर्चा की।”उन्होंने कहा कि राशिद खान अपने परिवार को अफगानिस्तान से बाहर नहीं निकाल सके और इन हालात में राशिद को मैच में अच्छा प्रदर्शन करते देखना काबिले तारीफ है।

इंग्लैंड के इस पूर्व खिलाड़ी ने कहा कि राशिद खान के लिए इतने सख्त दबाव में प्रदर्शन करना शानदार रहा। केविन पीटरसन के बयान पर टेंट रॉकेट्स के कप्तान लुईस ग्रेगरी ने भी राशिद खान का हवाले से ये बात कही टेंट रॉकेट्स के कप्तान लुईस ग्रेगरी ने कहा कि राशिद खान ने पूरी दुनिया में अच्छा खेल पेश किया है और ऐसी स्थिति में जहां उनके देश की स्थिति तनावपूर्ण है, राशिद खान का शानदार प्रदर्शन बहुत खास है हमारी टीम के सभी खिलाड़ी उनके साथ हैं।

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले अफगानिस्तान के क्रिकेटर राशिद खान ने भी ट्विटर पर विश्व नेताओं से अफगानिस्तान में हो रही तबा’ही को रोकने का आह्वान किया था। ता’लि’बान ने रविवार, 15 अगस्त को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर भी क’ब्जा कर लिया, जिसके बाद अफगान सैनिकों और अफगान राष्ट्रपति अशरफ गनी सहित कई प्रमुख सरकारी अधिकारी देश छोड़कर भाग गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.