जब से बिहार विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हुआ है तभी से चुनाव ने दिल’चस्प मो’ड़ लेना शुरू कर दिए हैं। इसी क्रम में जहां सभी पार्टियों ने अपने उम्मीदवा’रों को मैदान में उतारना शुरू कर दिया है तो अब शिवसेना अध्यक्ष और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने भी बिहार चुनाव में एंट्री मा’र दी है। सीएम उद्धव ठाकरे ने घोषणा की है कि वह इस चुनाव में अपनी पार्टी के उम्मीदवा’रों के लिए वोट मांगने जाएंगे। मिली जानकारी के अनुसार, शिवसेना बिहार में 50 सीटों पर चुनाव ल’ड़ेगी।गुरुवार को इस संबं’ध में शिवसेना ने 22 नेताओं की लिस्ट भी निकाली थी, जो बिहार में पार्टी का प्रचार करेंगे।

इन नेताओं में उद्धव ठाकरे के साथ उनके बेटे आदित्य ठाकरे और शिवसेना नेताओं में सुभाष देसाई, संजय राउत, अनिल देसाई, विनायक राउत, अरविंद सावंत, प्रियंका चतुर्वेदी, राहुल शेवाले और कृपाल तुमाने समेत तकरीबन 60 नेता शामिल हैं। वहीं दूसरी ओर बिहार में एक नया गठबं’धन भी तैयार हो गया है। इस गठबं’धन का नाम ‘ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट’ रखा गया है। इसमें असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM, उपेंद्र कुशवाहा की रालोसपा, मायावती की बसपा, के अलावा समाजवादी दल डेमोक्रेटिक, जनतांत्रिक पार्टी सोशलिस्ट शामिल हैं और उपेंद्र कुशवाहा के नेतृत्व में गठबं’धन चुनाव ल’ड़ेगा।

इस बारे में असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, “पिछले 15 सालों में बिहार का कोई विकास नहीं हुआ, बिहार की जनता में घुटन हो रही है। बिहार में नया विक’ल्प देने की कोशिश है। हमारा अलायंस सभी से अलग होगा।” इस तीसरे गठबं’धन की घोषणा ने चुनावी मुका’बलों को दिल’चस्प बना दिया है। वहीं एनडीए से अलग हुई लोक जनशक्ति पार्टी ने भी अपने उम्मीदवा’रों की सूची जारी कर दी है, जिसमें छह ऐसे नेताओं के नाम शामिल हैं जिन्होंने भाजपा छो’ड़ लोजपा का हाथ थामा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.