पटना: बिहार विधानसभा चुनाव की तारीख़ों की घोषणा हो चुकी है और अलग-अलग पार्टियों ने कुछ सीटों के लिए अपने उम्मीदवार की घोषणा भी कर दी है. आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि बिहार विधानसभा चुनाव में पिछली बार कितने मुस्लिम विधायक बने थे. इस बार क्या स्थिति होगी ये चुनाव बाद पता चलेगा लेकिन 2015 में जो स्थिति थी उसकी बात कर लेते हैं. 2015 विधानसभा चुनाव में बिहार से 24 मुस्लिम कैंडिडेट चुनाव जीतकर आये. सन 2000 के बाद ऐसा पहली बार हुआ कि इतनी बड़ी संख्या में मुस्लिम उम्मीदवार जीते.

2000 के चुनाव में 29 विधायक चुन कर आये थे. 1952 में जब बिहार विधानसभा चुनाव हुआ था तब यहाँ 24 मुस्लिम विधायक बने थे. झारखण्ड बनने के बाद 2015 विधानसभा चुनाव में ही सबसे अधिक मुस्लिम चुन कर गए. 1952 से अब तक दो ही बार ऐसा हुआ है कि 20 फ़ीसदी मुस्लिम विधानसभा तक पहुँचे हों. 1985 में 325 में 34 मुस्लिम विधायक थे. 2015 के चुनाव की बात करें तब जदयू और राजद मिलकर चुनाव लड़े थे.
RJD[/caption]
राजद से 11 मुस्लिम विधायक बने थे जबकि 5 जदयू के चुनाव चिन्ह पर जीत कर आये थे. कांग्रेस से 6 मुस्लिम चुनाव जीते थे और भाजपा से भी एक मुस्लिम उम्मीदवार ने कामयाबी हासिल की थी. इस बार के विधानसभा चुनाव में क्या स्थिति बनती है ये तो आगे मालूम चलेगा. हालाँकि ये तो ज़ाहिर है कि इस बार महागठबंधन और NDA के बीच टक्कर सीधी ही होगी.

इस बार महागठबंधन में जदयू नहीं है लेकिन राजद के साथ कांग्रेस और वाम दलों का मज़बूत गठजोड़ है. इस गठजोड़ को मज़बूत इसलिए भी कहा जा रहा है क्यूँकि NDA के पाले से अब लोजपा भी छिटक चुकी है और साथ ही उसने एक ऐसा confusion बना दिया है कि भाजपा जदयू दोनों चक्कर में हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.