बिहार में क्या गेम करने वाली हैं राजद और कांग्रेस? कांग्रेस अध्यक्ष बनने पर भी राहुल ने दे दिया बयान..

नई दिल्ली: पाँच राज्यों के विधानसभा चुनाव ख़त्म हो गए हैं और साल के अंत में महत्वपूर्ण विधानसभा चुनाव होने हैं. पाँच राज्यों के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को बड़ी हार मिली, इसके बाद कांग्रेस नेतृत्व पर बड़े सवाल उठने लगे. कहा जाने लगा कि कांग्रेस संगठन कमज़ोर हो चुका है, नेतृत्व क्लियर नहीं है और कार्यकर्ता भी बड़े नेताओं की तरह बर्ताव करने लगे हैं.

कांग्रेस इन सब बातों पर काम कर रही है या नहीं इसको लेकर भी लोग सवाल करने लगे हैं. हालाँकि कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व ने इसको लेकर कुछ काम करना शुरू कर दिया है. इतना ही नहीं कांग्रेस ने 2024 लोकसभा चुनाव की भी तैयारी शुरू कर दी है. कांग्रेस के सूत्रों से पता चला है कि अब पार्टी भाजपा को छोटे या बड़े हर चुनाव में पूरी ताक़त से हराने की कोशिश करेगी.

हाल ही में राजद में अपनी पार्टी का विलय करने वाले शरद यादव भी भाजपा को हराने के लिए संघर्ष कर रहे हैं. सूत्रों की मानें तो कांग्रेस अब समाजवादी नेताओं से सम्पर्क साधने की कोशिश कर रही है. इसी सिलसिले में आज कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने शरद यादव से मुलाक़ात की. कांग्रेस चाहती है कि शरद यादव के ज़रिए पार्टी उन दलों से बात करे जो भाजपा विरोधी है.

राहुल गांधी और शरद यादव की इस मुलाक़ात के बड़े मायने हो सकते हैं. पार्टी किसी प्रकार का चुनाव पूर्व गठबंधन बिहार और उत्तर प्रदेश जैसे राज्यों में करना चाहती है. कांग्रेस का महाराष्ट्र में मज़बूत गठबंधन है और यहाँ ये बड़ी पार्टी भी है, राजस्थान और मध्य प्रदेश जैसे राज्यों में वो ख़ुद महत्वपूर्ण भूमिका में है जबकि छत्तीसगढ़ में उसकी सीधी लड़ाई भाजपा से होनी है.

कर्णाटक में जेडीएस से कांग्रेस किसी तरह की सहमति चाहती है वहीं पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस से वो सीधा गठबंधन करना चाहती है. कांग्रेस को मालूम है कि इस सारी बातचीत को कोई आगे बढ़ा सकता है तो वो ख़ुद शरद यादव ही हैं. शरद यादव वरिष्ठ समाजवादी नेता हैं और इनका बहुत सम्मान भी है. साथ ही राहुल गांधी ने बिहार के राजनीतिक हालात पर भी चर्चा की है.

ऐसी ख़बरें भी हैं कि राजद और कांग्रेस मिलकर नीतीश कुमार की सरकार पर चोट करने की कोशिश कर सकते हैं. राजद सिर्फ़ एक मौक़े की तलाश में है जबकि भाजपा-जदयू गठबंधन इस बात को समझ रहा है इसलिए बहुत सावधानी बरते हुए है. आज की मुलाक़ात के बारे में यूँ तो राहुल ने कहा कि वो हाल लेने आए थे शरद यादव का.

मीडिया से बात करते हुए राजद नेता शरद यादव ने कहा कि राहुल गांधी को कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया जाना चाहिए, उसके बाद ही कुछ बड़ा किया जा सकता है।उनकी इस बात पर राहुल गांधी ने रिप्लाई देते हुए कहा कि इस बारे में सोचेंगे हम लोग.

यादव ने कहा कि राहुल ही कांग्रेस को चला रहे हैं। राहुल गांधी ने इस मुलाक़ात के सिलसिले में कहा कि शरद यादव बीमार पड़ गए थे। उन्होंने कहा कि मैं बहुत ख़ुश हूँ कि वो अपनी सेहत ठीक करने के लिए लड़ रहे हैं और मुस्कुरा रहे हैं। राहुल ने कहा कि शरद यादव ने उन्हें राजनीति के बारे में बहुत कुछ सिखाया है। राहुल गांधी राजद नेता शरद यादव से मिलने उनके आवास पहुँचे थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.