त्रिपुरा में गिरेगी भाजपा की सरकार! सीएम ने किया ऐलान, 13 दिसंबर को मैं..

December 9, 2020 by No Comments

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री विप्लव देव अक्सर अपने बयानों की वजह से चर्चा में बने रहते हैं। बीते दिनों खबर सामने आई थी कि भारतीय जनता पार्टी के ही कुछ नेताओं ने मुख्यमंत्री विप्लव देब के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था।

नवनियुक्त राष्ट्रीय सचिव और त्रिपुरा के केंद्रीय पर्यवेक्षक विनोद कुमार सोनकर के दौरे के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं ने ‘बिप्लब हटाओ, बीजेपी बचाओ’ नारे लगाए थे। इसी पर अब बिप्लब देब की यह प्रतिक्रिया सामने आई है। जिसके बाद मुख्यमंत्री का कहना है कि वो इस घटना से काफी दुखी हैं और खुद लोगों से मिलकर उनका विचार जानेंगे।

 

इस मामले में त्रिपुरा के मुख्यमंत्री भी उपलब्धि बने अगरतला में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई है। जिसमें उन्होंने कहा है कि वह 13 दिसंबर को विवेकानंद मैदान में जाएंगे। जहां पर वह त्रिपुरा के लोगों से खुद यह पूछेंगे कि उन्हें मुख्यमंत्री पद पर रहना चाहिए या नहीं।

अगर इस दौरान जनता ने मेरा समर्थन किया तो मैं मुख्यमंत्री पद पर बना रहूंगा। अगर जनता ने मेरा समर्थन नहीं किया तो मैं इस मामले में पार्टी आलाकमान को सूचित करूंगा। जनता से मेरी अपील है कि 13 दिसंबर को विवेकानंद मैदान में जरूर पहुंचे जनता का निर्णय ही मेरे लिए अंतिम होगा।

उन्होंने कहा कि ‘मुझे नारे से दुख हुआ है। मेरी बस इतनी गलती है कि मैं राज्य के विकास को लेकर प्रतिबद्ध हूं। मेरे पास बस पांच साल हैं, मैं कोई 30 साल तक काम करने वाला सरकारी अफसर नहीं हूं।’ बता दें कि, पिछले रविवार को त्रिपुरा गेस्ट हाउस के चारों ओर सैंकड़ों लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई थी, जहां भाजपा के नवनियुक्त पर्यवेक्षण विनोद सरकार राज्य के नेताओं से बात कर रहे थे। भी’ड़ ने यहां पर ‘बिप्लब हटाओ-बीजेपी बचाओ’ के नारे लगाने शुरू कर दिए थे। त्रिपुरा में मुख्यमंत्री बिप्‍लब देव के नेतृत्‍व में भाजपा और आईपीएफटी गठबंधन की सरकार है।

 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *