भाजपा नेता का चौकानें वाला बयान, “जिन्होंने लालू को जेल भिजवाया, अब वो लोग…”

April 21, 2021 by No Comments

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल के संस्थापक लालू प्रसाद यादव को हाल ही में झारखंड हाई कोर्ट द्वारा जमानत दे दी गई है। हालांकि वह अभी भी दिल्ली के एम्स में भर्ती हैं। क्योंकि बीते काफी वक्त से लालू प्रसाद यादव की तबीयत ठीक नहीं रह रही है।

माना जा रहा है कि लालू प्रसाद यादव को जमानत मिलने की खबर के बाद से ही बिहार की सियासत एक बार फिर से गरमा गई है। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और सांसद सुशील कुमार मोदी ने राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी पर कटाक्ष किया है। उन्होंने कहा है कि उन्होंने राजद के संस्थापक लालू प्रसाद यादव को जेल भिजवाया। अब वह पुत्र मोह में लालू चालीसा रहे हैं।

इस कड़ी में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता सुशील मोदी ने सोमवार को ट्वीट किया कि श्री शिवानंद तिवारी ने चारा घोटाला मामले में लालू प्रसाद यादव को जेल भिजवाया। लेकिन जब राजद अध्यक्ष की मेहरबानी से उन्हें संंगठन में बड़ा पद और बेटे को विधायक बनवाने में सफलता मिल गई, तब सं’न्यास तोड़कर लालू चालीसा पढ रहे हैं।

इसके साथ ही भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी ने यह भी कहा है कि वह राज्यसभा का टिकट पाने के लिए कभी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तो कभी राजद संस्थापक लालू प्रसाद यादव के समर्थक बनते हैं रहे हैं। लेकिन वह किसी के भी भरोसे के लायक नहीं हो पाए।

भाजपा नेता ने कहा कि शिवानंद तिवारी में अगर समाजवाद को लेकर ईमानदारी बची होती तो उन्होंने बेनामी सम्पत्ति के आरोपी तेजस्वी प्रसाद यादव का बचाव न किया होता।

उनमें अगर सा’माजिक न्याय के प्रति निष्ठा होती तो वे रघुवंश प्रसाद सिंह की तरह ऊं’ची जा’ति के गरीबों को 10 फीसद आरक्षण देने के राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के फैसले का समर्थन करते। जिनकी राजनीति न सिद्धांत के प्रति निष्ठावान रही, न पार्टी नेतृत्व के प्रति, वे दूसरों पर टिप्पणी कर रहे हैं।

आपको बता दें कि राजद संस्थापक लालू प्रसाद यादव को जमानत मिलने के बाद से ही बिहार की सियासत में ख’लबली सी म’च गई है। बताया जाता है कि राजद नेता तेजस्वी यादव अपने पिता लालू प्रसाद यादव को जेल से रिहा कराने के लिए कई कोशिशें कर रहे थे। इस कड़ी में लालू प्रसाद यादव की बेटी रोहिणी ने एक महीने रोजे रखने का भी ऐलान किया था।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *