उत्तर प्रदेश में इस वक्त राजनीति का माहौल काफी गर्म है और ऊपर से गर्मी के मौसम में राजनीति में भी जब गर्मी हो जाए तो आप सोच सकते हैं कि यूपी की राजनीति कितनी तप रही होगी। बीजेपी उत्तर प्रदेश के प्रभारी राधा मोहन सिंह 5 जून को देर शाम अचानक लखनऊ पहुंचे, 6 जून को राज्यपाल से मुलाकात और विधानसभा अध्यक्ष से मुलाकात की खबर आई.

राज्यपाल और विधानसभा अध्यक्ष से मुलाकात के बाद, बताया जा रहा है कि बीजेपी के अंदर कानाफूसी तेज हो गई है, कोई किसी के मंत्री पद जाने का बात कह रहा है, तो कोई किसी को मंत्री बनने की शुभकामनाएं दे रहा है, कहीं तो उप मुख्यमंत्री को लेकर भी बातें चल रही है, मगर मुख्यमंत्री दफ्तर से सूत्र बताते हैं कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी पूरे माहौल पर नजर बनाए हुए।

बीजेपी के सूत्र बता रहे हैं कि बहुत ही जल्द मंत्रिमंडल विस्तार की घोषणा हो जाएगी, इसके अलावा यह भी कहा जा रहा है कि कई बड़े मंत्रियों के पास से मंत्रालय बदले जाएंगे और कई नए चेहरों को मंत्रिमंडल में जगह दी जाएगी, एके शर्मा को लेकर फिर से वही जानकारी सामने आ रही है कि इस बार एके शर्मा को जिम्मेदारी बड़ी मिलने वाली है, कुछ बीजेपी के सूत्र गृह और नियुक्ति विभाग भी मिलने की बात कर रहे हैं।

मगर सवाल सबसे बड़ा यह है कि अगर गृह और नियुक्ति विभाग मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पास से एके शर्मा को दे दिया जाएगा तो इसमें कोई दो राय नहीं है कि उत्तर प्रदेश में एक नया पावर सेंटर तैयार हो जाएगा, मगर सूत्र बता रहे हैं राधा मोहन सिंह ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को एक एक बंद लिफाफा भी दिया है, जिससे इस बात का साफ संकेत है कि उत्तर प्रदेश में कुछ बदलने वाला है मगर क्या योगी आदित्यनाथ के पर कतर दिए जाएंगे यह देखने वाली बात होगी, और क्या योगी आदित्यनाथ अपनी कुर्सी के साथ अपने पावर सेंटर को बचा पाते हैं या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.