बिहार में मचे सियासी बवाल के बीच BJP को बड़ा झटका, पार्टी के दिग्गज नेता ने इस्तीफा देकर थामा…

July 27, 2021 by No Comments

बीते कुछ दिनों से बिहार की सियासत में काफी उथल-पुथल देखने को मिल रही है। एनडीए की सहयोगी पार्टियों ने भाजपा के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ है। विकासशील इंसान पार्टी के अध्यक्ष मुकेश साहनी भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ खुलकर नाराजगी जाहिर कर रहे हैं।

यहाँ तक कि वह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा बुलाई गई एक बैठक में भी शामिल होने नहीं पहुंचे।इसी बीच खबर सामने आई है कि बिहार में भारतीय जनता पार्टी को एक और झटका लगा है। खबर के मुताबिक धार्मिक न्यास परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष और भाजपा के स्टार प्रचारक गौरव कृष्ण चंद्र शास्त्री ने भाजपा से इस्तीफा देकर कांग्रेस की सदस्यता ले ली है।

उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगाया है कि पार्टी संत समाज का इस्तेमाल सिर्फ अपनी सत्ता प्राप्ति के लिए करती है सोमवार को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉक्टर मदन मोहन झा विधानमंडल दल के नेता अजीत शर्मा की मौजूदगी में गौरव कृष्ण चंद्र शास्त्री कांग्रेस में शामिल हो गए हैं।

कांग्रेस की सदस्य्ता ग्रहण करने के बाद मीडिया से उन्होंने कहा कि भाजपा में आंतरिक लोकतंत्र की ह’त्या हो चुकी है। जनहित का कोई मुद्दा दल के अंदर नहीं उठा सकते। वह संत समाज से अपने एजेंडे पर काम करने का दबाव बनाती है, जिसे सं’त स’माज हमेशा से नकारता रहेगा।

उन्होंने तु’ष्टीकर’ण की नीति पर भाजपा के काम करने पर नाराजगी जताई। गौरव कृष्ण चंद्र शास्त्री के साथ संत निकेश चौधरी, धीरज पांडेय, अंजनी चौधरी और उनके समर्थकों ने भी कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की। मोदी सरकार द्वारा बनाए गए तीनों कृषि कानूनों को किसान विरो’धी बताते हुए डॉक्टर मदन मोहन झा ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी के ट्रैक्टर मार्च का समर्थन किया है। उनका कहना है कि कांग्रेस आखरी दम तक किसानों के अधिकारों की लड़ाई लड़ती रहेगी।

वहीं अजीत कुमार शर्मा ने भी कहा है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्र में सत्तारूढ़ मोदी सरकार को आईना दिखाने का काम किया है। मिलन समारोह में अफाक आलम, इजहारुल हुसैन, राजेश राठौड़, शरवत जहां फातिमा, प्रवक्ता असित नाथ तिवारी, ज्ञान रंजन सहित अन्य नेता मौजूद रहे।

गौरतलब है कि शनिवार को पप्पू यादव की जन अधिकार पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष उमैर टिक्का खान ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की थी। तारिक अनवर ने खान को पार्टी की सदस्यता दिलाई थी। मूल रूप से गया के रहने वाले उमैर खान लंबे समय से जन अधिकार पार्टी में कार्यकारी अध्यक्ष पद पर तैनात थे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *