इस समय सबसे अधिक चर्चा है नागरिकता संशोधन अधिनियम को लेकर चल रहे विरो’ध की. छात्र और युवा ही नहीं बल्कि बॉलीवुड डायरेक्टर भी अब इसमें आवाज़ बुलंद कर रहे हैं. आज के दिन भी बॉलीवुड निर्देशक एचई अमजद ख़ान का एक ट्वीट वायरल हो गया. उन्होंने आज एक ट्वीट करके कहा कि उनके लिए फ़िल्में बनाने से भी ज़्यादा महत्वपूर्ण संविधान है.

उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि अगर संविधान रहेगा और देश रहेगा तो फ़िल्में कभी भी बनाई जा सकती हैं. उन्होंने ट्वीट किया,”वैसे तो मैं फ़िल्म डायरेक्टर हूँ और किसी भी डायरेक्टर के लिए उसकी आने वाली फ़िल्म सबसे ज़्यादा महत्वपूर्ण होती है लेकिन उससे पहले मैं देशभक्त हूँ इसलिए अभी सबसे पहले देश है उसके बाद फ़िल्म,देश और संविधान रहेगा तो फ़िल्में कभी भी बना लूँगा लेकिन अगर देश ही नहीं रहा तो..?”


उल्लेखनीय है कि उनकी फिल्म गुलमकई 31 जनवरी को रिलीज़ होने वाली है. ये फिल्म पाकिस्तानी एक्टिविस्ट मलाला युसूफज़ई की ज़िन्दगी पर आधारित है. निर्देशक अमजद कहते हैं कि ये फिल्म मलाला की ज़िन्दगी पर आधारित है और इसको लेकर कई सालों की कड़ी मेहनत लगी हुई है.हमने जब उनसे बात करके ये जानने की कोशिश की कि क्या उन्हें इस बात का डर नहीं कि उनकी फिल्म रिलीज़ होने से पहले ही विवाद शुरू हो गया है तो उन्होंने कहा कि हम संविधान को बचाने की बात करते रहेंगे, हम शांतिपूर्ण तरह से अपनी बात रखेंगे और हमें किसी बात का कोई डर नहीं है. आपको बता दें कि गुलमकई में रीम शेख़ और अतुल कुलकर्णी मुख्य भूमिका में हैं. फिल्म में दिवंगत अभिनेता ओम पूरी की भी अहम् भूमिका है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.