भ्रष्टाचार मामले में CBI का एक्शन, पूर्व राज्य गृहमंत्री अनिल देशमुख के दो निजी…

April 11, 2021 by No Comments

महाराष्ट्र में बीते दिनों मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह द्वारा राज्य के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख को लेकर किए गए दावों पर अब सीबीआई की टीम द्वारा कार्रवाई की जा रही है। भ्र’ष्टाचार के आरोपों को लेकर सीबीआई ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता और महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के दो नि’जी स्टाफ को समन भेज दिया है।

केंद्रीय जांच ब्यूरो ने महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच के लिए प्रारंभिक जांच का मामला दर्ज किया और मंगलवार को मुंबई पहुंची टीम ने सभी संबंधित दस्तावेज इक्क्ठे किए गए। बॉम्बे हाई कोर्ट के आदेश के अनुपालन में प्राथमिक जांच शुरू कर दी।

सीबीआई के प्रवक्ता आर सी जोशी ने कहा कि सीबीआई ने 5 अप्रैल, 2021 के बॉम्बे हाई कोर्ट के आदेश के आलोक में प्राथमिक जांच दर्ज की है। गौरतलब है कि महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख ने उनके खिलाफ हो रही सीबीआई जांच को रुकवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा भी खटखटाया था। लेकिन वहां से भी उन्हें कुछ हासिल नहीं हो पाया है।

सुप्रीम कोर्ट ने अनिल देशमुख द्वारा बॉम्बे हाई कोर्ट को चुनौती देने वाली याचिका को खारिज कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि यह गंभीर मामला है और इसके खिलाफ निष्पक्ष जांच होना बेहद जरूरी है।

दरअसल बॉम्बे हाईकोर्ट ने मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह द्वारा लगाए गए भ्र’ष्टाचार के आरोपों की सीबीआई जांच का निर्देश दिया था। सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि महाराष्ट्र सरकार के उच्च अधिकारी मामले में शामिल हैं, इसलिए मामला गं’भीर हो जाता है।

आपको बता दें कि मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमवीर सिंह ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एक पत्र लिखा था। जो कि उन्होंने पुलिस कमिश्नर के पद से हटाए जाने के बाद लिखा था।

इसमें उन्होंने दावा किया है कि महाराष्ट्र के गृह मंत्री रहते हुए डिमांड की थी कि पुलिस अधिकारी हर महीने बार और होटलों से कम से कम 100 करोड़ रुपये की वसूली करें। उन्होंने यह भी कहा था कि वाझे को देशमुख का संरक्षण मिला हुआ था।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *