पश्चिमी चीन के शिंजियांग में मुस्लिम समुदाय के खिलाफ लगातार अमानवीय हरकतें कर रहे चीन ने एक बार फिर एक मस्जिद को निशाना बनाया है।
शिंजियांग प्रांत के क्वीरा शहर के प्रशासन ने जियामन मस्जिद को ऊंची दीवारों के पीछे ढक दिया है। ऊंची दीवार पर कम्युनिस्ट पार्टी के नारे लिख दिए गए हैं ताकि वहां से गुजरने वाले इसे एक धार्मिक स्थान के तौर पर नहीं पहचान सकें।

हालांकि चीन सरकार ने इसे ग्रामीण शहरों के सौंदर्यीकरण की कवायद करार दिया है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने बुधवार को माना कि कुछ मस्जिदों को ध्वस्त किया गया है, जबकि अन्य को अपग्रेड किया गया है। यह कवायद ग्रामीण विकास के तहत की गई है, लेकिन मुस्लिम अपनी नमाज घर पर या मस्जिदों में पढ़ सकते हैं।

बता दें कि चीन पर पहले ही हजारों मस्जिदों को ध्वस्त करने का आरोप लग रहा है। यहां तक कि एक मस्जिद को तो सार्वजनिक शौचालय बनाने के लिए ढहा दिया गया था, जिसकी पूरे विश्व में आलोचना की गई थी।

अप्रैल अंत में विदेशी मीडिया पहुंचने पर खुली पोल
जियामिन मस्जिद पर अप्रैल के अंत में मुस्लिम समुदाय के पवित्र रमजान माह के दौरान विदेशी मीडिया की एक टीम पहुंची थी। इस टीम के मुताबिक, दो उइगर मुस्लिम महिलाएं लंबे समय तक शहर के इस सबसे बड़े धार्मिक स्थल में सर्विलांस कैमरों की नजर में एक छोटी जालीदार रोशनदान के पीछे बैठी देखी गई थी।


मीडिया टीम के वहां पहुंचने के कुछ ही मिनट के अंदर चार सादी वर्दी वाले आदमी वहां पहुंचे और नजदीकी आवासीय भवनों के गेट बंद कर दिए। एक आदमी ने वहां मस्जिद होने के सवाल पर कहा कि उस जगह कभी भी कोई मस्जिद नहीं थी। साथ ही उसने वहां फोटो लेने को गैरकानूनी बताते हुए मीडिया को वापस जाने का आदेश दिया।


2019 की सैटेलाइट तस्वीरों में दिख रही मस्जिद
बता दें कि 2019 की गूगल पर मौजूद सैटेलाइट इमेज में स्पष्ट दिखने वाली मस्जिद के चारों कोनों की मीनारें अब गायब हो चुकी हैं, जबकि मस्जिद के मध्य गुंबद की जगह अब एक नीले रंग का बड़ा सा धातु का बॉक्स दिखाई देता है। यह स्पष्ट नहीं है कि सैटेलाइट इमेज लिए जाने के समय इस मस्जिद में नमाज होती थी या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.