इसी महीने बिहार विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। ऐसे में बिहार के चुनावी मैदान में उतरने के लिए र’णनीति तैयार कर रहे हैं और करीब सभी राजनीतिक दल अपनी तैयारी को अंतिम रूप देने में जुटे हुए हैं। इसी बीच बीतें दिनों कई पार्टियों ने अपने उम्मीदवा’रों की सूची भी जारी कर दी थी। वहीं अब लोक जनशक्ति पार्टी के चिराग पासवान ने चुनाव से पहले ही बड़ा दांव खेल दिया है, जिससे बीजेपी और जदयू दोनों को ही बड़ा झ’टका लगने वाला है।

माना जा रहा है कि बिहार एनडीए के मुख्य दल भारतीय जनता पार्टी के दो नेता एनडीए से अलग होकर लोजपा भी शामिल हो गए हैं। वहीं लोजपा बिहार चुनाव में इन दोनों नेताओं का इस्तेमाल बिहार सीएम नीतीश कुमार के खि’लाफ करने वाले है। कया’स लगाए जा रहे हैं कि चिराग पासवान इन दोनों विधायकों को जेडीयू के खि’लाफ मैदान में उतारने वाले हैं, जिसके बाद से एनडीए गठबं’धन में तनाव का माहौल पैदा हो गया है। इतना ही नहीं बल्कि इससे पहले भी खबरें आईं थीं कि भाजपा के उप प्रदेशाध्यक्ष राजेंद्र सिंह ने पार्टी बदल ली है।
Chirag Paswan-Nitish Kumar
चिराग पासवान की लोजपा ने खुद इस बात का ऐलान किया था कि उसने भाजपा के उप प्रदेशाध्यक्ष राजेंद्र सिंह को पार्टी बदलने के लिए मना लिया है और दिनारा से अपने टिकट पर ल’ड़वाने का फैसला किया है। दिलचस्प बात यह है कि राजेन्द्र सिंह भाजपा के एक मजबूत नेता हैं, जिन्होंने 2015 में भाजपा की ओर से सीएम पद के लिए चुनाव लड़ा था। वहीं सोमवार को भी बीजेपी नेता बरुण पासवान ने भी पार्टी छोड़ लोजपा ज्वाइन कर ली है, जिसे चिराग कुटुम्बा सीट से हम प्रत्याशी के खिलाफ उतार सकते हैं।

इसके अलावा यह भी अनुमान लगाया जा रहा है कि भाजपा के और भी नेता लोजपा में शामिल हो सकते हैं। इस संबं’ध में लोजपा के महासचिव अब्दुल खालिक ने बताया, “हमारे कार्यकर्ता हमारी पहली प्राथमिकता हैं, लेकिन जीतने की क्षमता हमेशा अहम रही है।” दूसरी ओर नितीश कुमार ने महागठबं’धन पर भरो’सा करते हुए चिराग पासवान को टारगेट किया है। उन्होंने कहा, “हम (जदयू) और भाजपा लंबे समय से साथ काम कर रहे हैं और आगे भी करते रहेंगे। मैं इस पर प्रतिक्रिया नहीं देता कि और लोग क्या कहते हैं। कुछ लोगों को मेरी आलोचना कर के ही सुकून मिलता है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.