रामनवमी और रमजान के शुभ अवसर पर कई राज्यों में हिं’सा देखने को मिली। दोनों धर्म के लोग आपस में जहां शान्ति और सौहार्द से रह रहे थे वहीं कुछ आवंछित तत्व शान्ति भंग करने में आगे रहे. हालाँकि इस तरह की कोई ख़बर उत्तर प्रदेश में सुनने को नहीं मिली. इस पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बयान दिया है.

इस बयान में उनका कहना है कि बाकी कई राज्यों में कुछ भी हुआ हो, लेकिन उत्तर प्रदेश के एक भी जिले से इस तरह की कोई खबर सामने नहीं आई है। बता दें कि योगी आदित्यनाथ ने इस बयान का वीडियो अपने ट्विटर हैंडल से शेयर किया था। उन्होंने इस बयान के चलते राज्य में शांति कायम रखने की कोशिश की है।

इस बयान में उन्होंने कहा है कि “यूपी में 25 करोड़ की आबादी रहती है। 800 स्थानों पर रामनवमी की शोभायात्रा को लेकर जुलूस निकाले गए। साथ-साथ इस समय रमज़ान का महीना भी चल रहा है। कहीं भी तू-तू, मैं-मैं नहीं हुई। दं’गा फ़साद की बात तो दूर है। ये उत्तर प्रदेश के विकास की नई सोच को प्रदर्शित कर रहा है। यहां दं’गा फ’साद के लिए कोई जगह नहीं है। अरा’जकता, गुं’डागर्दी और अ’फवाह के लिए कोई जगह नहीं है।”

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के लोगों की तारीफ़ की. उन्होंने जिन राज्यों का नाम लिया उनमें भाजपा शासित राज्य भी हैं, इससे ज़ाहिर है कि CM योगी साफ़ कह रहे हैं कि भाजपा शासित राज्य हो या फिर दूसरी पार्टियों के द्वारा शासित राज्य, सबसे बेहतर माहौल इस समय उत्तर प्रदेश का है.

गोरतलब हैं कि अब तक कई राज्यों से दोनों धर्मों के बीच विवाद की खबरें सामने आ चुकी हैं। कहीं मस्जिद तो’ड़ी गई हैं तो कहीं रामनवमी जुलूस पर प’थराव किया गया है। इन राज्यों में गुजरात, मध्य प्रदेश, झारखंड और पश्चिम बंगाल शामिल हैं।

आपको बता दें कि राज्य सरकार इस हिं’सा का समर्थन करने वालों पर सख्त कार्रवाई कर रही है। जो भी व्यक्ति हिं’सा करने की कोशिश कर रहा है पुलिस उसको गिरफ्तार कर उनके खिलाफ कार्रवाई कर रही है।