बि’हार कि राज’नि’ति में हल’चल कम होने का नाम नहीं ले रही है एन’डीए की सर’कार बन गई फिर भी उ’थल-पु’थल म’ची हुई है बि’हार में भले ही ए’नडी’ए की सर’कार स’त्ता’रूढ़ हो, लेकिन रा’ष्ट्रीय ज’नता ‘दल बि’हार विधा’नस’भा चु’नाव में सबसे बड़ी पा’र्टी बन’कर उभ’री थी, खा’सतौ’र पर रा’जद ने’ता तेज’स्वी या’दव की सा’ख पहले के मु’का’बले काफी ब’ढ़ चुकी है, माना जा रहा है कि ते’जस्वी की अगु’वा’ई में रा’जद अब अ’सम में भी भार’तीय जन’ता पा’र्टी की मु’श्किलें बढ़ाने का काम कर सकती है.

दरअसल पूर्वो’त्तर के रा’ज्य में मार्च-अप्रैल में चु’नाव होने वाले हैं, जिसकी ता’री’खों का ऐ’लान किया जा चुका है, बताया जाता है कि तेजस्वी यादव अब गुवा’हा’टी में है राजा सू’त्रों की मानी जाए तो पा’र्टी के असम विधा’नसभा चु’ना’व लड़ने की संभा’वना बन रही है, यहां पर ते’जस्वी यादव फि’लहा’ल सह’यो’गी द’ल की त’ला’श कर रहे हैं, बि’हा’र की तरह इस रा’ज्य में भी कां’ग्रेस के ने’तृत्व में 6 दलों का महा’गठ’बंधन हो चुका है,कयास लगाए जा रहे हैं कि रा’जद भी इस महा’गठ’बंधन का हि’स्सा बन सकता है, आपको बता दें कि कां’ग्रेस और राज’द चु’नावी ता’लमेल के लिए रा’ष्ट्रीय स्त’र पर गठ’जोड़ में रह चुकी है.

तेजस्वी यादव ने इसी के चलते कां’ग्रेस ने’ताओं के साथ मु’ला’कात भी की है, उनकी मुला’कात के बाद यह क्या सकता होने लगे हैं, दर’असल आ’सा’म में कुछ ऐसे इ’लाके भी हैं जहां पर भो’जपु’री वोट बैंक है,यहां पर तेजस्वी यादव को स्टा’र प्रचा’रक के रूप में कांग्रेस द्वा’रा इस्ते’माल किया जा सकता है, माना जा रहा है कि इन मत’दाता’ओं का रू’ख भा’जपा की ओर ही रहा है.

लेकिन अगर ते’जस्वी यादव मैदान में उतरते हैं तो इनका भा’जपा के प्रति आक’र्षण कम हो सकता है, तेजस्वी ने बीजेपी के पूर्व साथी हग’राम मोहिलरी के नेतृ’त्व वाले बो’डो’लैंड पीपल्स फ्रंट के साथ भी सं’बंध बना रखा है.

.

Leave a Reply

Your email address will not be published.