मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का कहना है कि आने वाले आने वाले 24 सीटों के उपचुनाव में कांग्रेस की स’रकार फिर से प्रदेश में देखने मिलेगी। कहने का मतलब ये है कि भाजपा के नेता शिवराज सिंह चौहान को मा’त देकर प्रदेश में फिर से कांग्रेस की सर’कार बनाई जाएगी। बता दें कि कमलनाथ से वीडियो प्रेस कॉन्फ्रेंस में पूछा गया तो उन्होंने प्रदेश में सरकार की वाप’सी की बात पर कहा “मुझे पूरी उम्मी’द है। आज म’तदाताओं में बहुत जागरू’कता एवं समझ है। आज म’तदाता चु’प रहते हैं और सब समझते हैं। यह बात महाराष्ट्र, हरियाणा एवं झारखंड में हुए चु’नावों में सा’बित हो गई कि वे गुम’राह नहीं होने वाले हैं।”

वहीं उन्होंने कांग्रेस के उन विधायकों के बारे में भी बात की जिन्होंने अपना इस्ती’फा देकर भाजपा को चु’ना, उन्होंने कहा “आज मतदाता इन 22 सीटों में समझ रहा है कि किस प्रकार का धो’खा उनके साथ हुआ। किस प्रकार कांग्रेस के 22 विधायक ला’लच से (भाजपा में) गए।” साथ ही उन्होंने अपनी बात को आगे ब’ढ़ाते हुए इन उपचुनावों में मध्य प्रदेश की भाजपा सर’कार को गि’राने का दा’वा करते हुए कहा “जीतना तो छो’ड़िए, इनको उपचुनाव में मुंहतो’ड़ जवा’ब मिलेगा। मुझे विश्वास है कि जो ये उपचुनाव हैं, आज इनका क्या हा’ल होगा, सोशल मीडिया देखिये। आप गांवों में जाकर पता कीजिए कि इनके बारे में क्या कहा जा रहा है। परि’णाम क्या होगा यह स्पष्ट है।”

24 में से 22 सीट हासिल करने का दा’वा कर रहे कमलनाथ से ब’ची 2 सीटों के बारे में पूछा गया कि वो कौन सी 2 सीटें है जो भाजपा को देना पसंद करेंगे, तो इस बात पर उन्होंने कहा, मैं कोई भी सीट भाजपा को देना पसंद नहीं करूंगा, मेरा तो बस इतना कहना है कि इन 24 सीटों के लिए भाजपा की हा’लत ख’राब है। आगे इस्ती’फा देने वाले सभी विधायकों की बात करते हुए कमलनाथ ने कहा “22 विधायकों को किस तरह प्रलो’भन दिया। यह आज जनता के सामने है। मुझे इस बात का दु’ख भी है। भ’रोसा नहीं था कि हमारे विधायक ला’लच और सौ’देबाजी का शि’कार हो जाएंगे। मुझे राजनीति का अनुभव था, लेकिन सौ’देबाजी की राजनीति का अनुभव नहीं था। मुझे इस बात का दु’ख नहीं है कि मैं आज मुख्यमंत्री के प’द पर नहीं रहा। मुझे इस बात का दु’ख है कि जो मैंने योज’नाएं शुरू की थी, वे आगे नहीं ब’ढ़ पाई। मैं मध्य प्रदेश को एक नई दिशा देना चाहता था।”

ज्योतिरादित्य सिंधिया के ने’तृत्व में कांग्रेस के 22 विधायको के इस्ती’फ़ा देकर भाजपा में शामिल होने के कार’ण मुख्यमंत्री कमलनाथ 20 मार्च को अपने पद से इस्ती’फा देना पड़ा और वहीं 23 मार्च को भाजपा ने प्रदेश में अपनी सर’कार बनाई। विधानसभा में इस वक़्त 24 सीटें खाली है जिसमें से 22 सीटें कांग्रेस के उन विधायको की है जो इस्ती’फा देकर भाजपा में शामिल हुए और बची 2 सीटें कांग्रेस वा भाजपा के विधायक के नि’धन के कार’ण खाली हुई। वहीं इस समय की प्रभा’वी संख्या 206 है तथा वर्तमान में सदन में बहुम’त का आंक’ड़ा 104 है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.