पिछले दिनों योगी के उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में यूपी एटीएस को काकोरी में आतंकियों के छुपे होने की खबर मिली थी इस सूचना के आधार पर यूपी एटीएस ने काकोरी के सीते विहार कॉलोनी से दो संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया है जिनपर अलकायदा से जुड़े होने का आरोप है इनका नाम मसरूद्दीन और मिनहाज अहमद है यूपी एटीएस ने इन दोनों के पास से दो प्रेशर कुकर बम, 8 किलो विस्फोटक, कई पिस्टल और अन्य प्रतिबंधित सामान बरामद किया है।

यूपी एटीएस ATS के अनुसार दोनों ही अलकायदा के प्रशिक्षित आतंकी हैं इन आतंकियों का प्लान भाजपा नेताओं को बम विस्फोट से उड़ाने का था यूपी एटीएस द्वारा इन से पूछताछ कर आतंकी हमले से जुड़ी हर जानकारी निकलवाने की कोशिश की जा रही है
आशंका जताई जाती है कि जिस जगह से इन दो को गिरफ्तार किया गया है उसके आसपास के इलाके के घरों में उनके कुछ अन्य साथी भी रह रहे थे।

यूपी एटीएस की इस कार्रवाई पर राजनीतिक शुरू हो गई है कई लोगों ने इस पर सवाल उठाएं उस मामले में कांग्रेस नेता सुरेंद्र राजपूत ने योगी सरकार और यूपी पुलिस पर निशाना साधते
हुए ट्वीट कर लिखा है कि “उत्तर प्रदेश की पुलिस AK-47 वाले अलक़ायदा के आतंकियों को तो पकड़ लेती है लेकिन कट्टे वाले भाजपा के गुंडो से पिट जाती है ! कमाल है ना?”

गौरतलब है कि बीते दिनों उत्तर प्रदेश के कई जिलों में हुए ब्लॉक प्रमुख चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी देखने को मिली है कई जगहों पर भाजपा सांसद की मौजूदगी में पार्टी कार्यकर्ताओं ने हवाई फायरिंग की यहां तक कि पुलिस अधिकारियों के साथ भी मारपीट की गई जिसकी वीडियो सोशल मीडिया में वायरल भी हुई लेकिन पुलिस द्वारा उनके खिलाफ कार्रवाई करने की जगह हाथ जोड़कर उन्हें हिंसा रोकने की गुहार लगाती दिखाई दी।

 

शुक्रिया बोलता यूपी

Leave a Reply

Your email address will not be published.