कोरो’ना वाय’रस संक’ट के बीच भारतीये जनता पार्टी (BJP) को मणिपुर से बड़ा झ’टका लगा हैं। बुधवार को तीन विधायकों ने पार्टी से इस्तीफा देकर कांग्रेस पार्टी (congress party) में शामिल हो गए है। कांग्रेस पार्टी (congress party) में शामिल होने के बाद मणिपुर की बीजेपी (BJP) गठबंधन सरकार पर संक’ट के बादल मंड’राने लगे हैं। इतना ही नही राज्य के उप मुख्यमंत्री वाई जयकुमार सिंह समेत नेशनल पीपल्स पार्टी (National peoples party) के तीन मंत्रियों ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया हैं और कांग्रेस पार्टी (Congress party) में शामिल हो गए हैं। जिसके बाद से बीजेपी (BJP) की मु’श्किलें और बढ़ गई हैं।

इस मामले में उप मुख्यमंत्री वाई जय कुमार सिंह के अलावा जिन तीन मंत्रीयो ने भाजपा का दामन छोड़ कांग्रेस का हाथ थामा हैं उनमें आदिवासियों और पहाड़ी क्षेत्र के विकास मंत्री एन कायिसी (N. Kayisi), युवा मामले और खेल मंत्री लेतपाओ हाओकिप (Letpao Haokip) और स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री एल जयंत कुमार सिंह (L jayanta kumar singh) शामिल हैं। मणिपुर सरकार के वाई जय कुमार सिंह ने वित्त विभाग भी संभाल रखा था। इन सभी मंत्रीयो ने बुधवार को अपने पद से इस्ती’फा दे दिया हैं। इसके साथ ही निर्दलीय विधायक शहाबुद्दीन (Shahabuddin) और तृणमूल कांग्रेस (TMC’s) के विधायक टी रबिंद्रो सिंह (T Robindro Singh) ने भी सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया हैं।

बताया जा रहा हैं कि सुबह के मुख्यमंत्री एन वीरेंद्र सिंह की शॉप पर गए अलग अलग पत्रों में उप मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफ़ा दे चुके वाई जय कुमार सिंह, हाओकिप और कायीसी की ओर से कहा गया हैं की मैं यह बताने के लिए तैयार हूं की मैंने मणिपुर की बीजेपी नीत गठबंधन सरकार के कैबिनेट मंत्री को अपना इस्तीफा दे दिया हैं। गौरतलब है कि राजय के तीन बीजेपी विधायक एस. सुभाषचंद्र सिंह (S. Subhashchandra singh), टीटी हाओकिप (TT Haokip) और सैम्युअल जेंदायी (Samuel Jendai) ने भी इस्तीफा देते हुए कांग्रेस पार्टी में शामिल होने का फ़ैसला लिया है।

साल 2017 के विधानसभा चुनावो में , कांग्रेस 28 सीट के साथ सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी थी और मणिपुर की 60 में से 21 सीटो पर भाजपा ने जीत दर्ज की थीं। लेकिन भाजपा ने नैशनल पिपल्स पार्टी (NPP), नागा पिपल्स फ्रंट (NPF) और लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के साथ गठबंधन करके बिरेन सिंह के नेतृत्व में सरकार बनाने में कामयाबी हासिल की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.