बेंगलुरु: कर्णाटक में 15 विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव होने हैं. इसको लेकर ऐसी संभावनाएँ लगाई जा रहीं थीं कि कांग्रेस और जेडीएस साथ मिलकर चुनाव ल’ड़ सकते हैं. अब ख़बर है कि दोनों दल एक दूसरे से कोई गठबंधन नहीं करेंगे और अलग-अलग चुनाव ल’ड़ेंगे. JDS के अध्यक्ष एचडी देवगौड़ा ने पांच दिसंबर के कर्नाटक उपचुनावों में कांग्रेस या भाजपा के साथ किसी तरह के गठजोड़ की संभावना से इनकार करते हुए कहा है कि दोनों ही राष्ट्रीय दल ‘‘भरोसेमंद नहीं हैं ’’ और एक जैसे हैं।

इंडिया टीवी न्यूज़ डॉट कॉम के अनुसार, पूर्व प्रधानमंत्री ने मंगलवार को दिये एक साक्षात्कार में कहा कि जद(एस) कर्नाटक विधानसभा में 15 सीटों पर रिक्तियों को भरने के लिये अपने बूते उपुचनाव लड़ेगा और निश्चित तौर पर कांग्रेस एवं भाजपा से समान दूरी बरकरार रखी जाएगी। देवगौड़ा ने यह भी कहा कि मई 2018 के कर्नाटक चुनाव के बाद कांग्रेस से गठजोड़ के लिये वह इच्छुक नहीं थे। देवगौड़ा ने कहा, ‘‘यह कांग्रेस थी, जो चुनाव के बाद मेरे पास आई और कांग्रेस-जद(एस) सरकार बनाने के लिये हमें मनाया।

शुरूआत में मैं सहमत नहीं हुआ लेकिन कांग्रेस द्वारा लंबे मान-मनौव्वल के बाद मैंने (गठबंधन) स्वीकार कर लिया। उपचुनाव के लिये जद (एस) की रणनीति के बारे में पूछे जाने पर 86 वर्षीय देवगौड़ा ने कहा, ‘‘कांग्रेस और भाजपा से हमारा कोई लेना-देना नहीं हैं। वे दोनों भरोसेमंद नहीं हैं। वे लोग जब चाहेंगे, हमारा इस्तेमाल करेंगे और बाद में हमें बर्बाद कर देंगे। दोनों ही दल एक जैसे हैं।’’ उल्लेखनीय है कि कांग्रेस-जेडीएस ने मिलकर कर्णाटक में सरकार बनाई थी लेकिन बाद में जेडीएस और कांग्रेस के विधायकों ने इस्तीफ़ा दे दिया जिसके बाद भाजपा ने सरकार बना ली.

Leave a Reply

Your email address will not be published.