कोरो’ना वाय’रस की इस महामा’री से पूरे देश समेत दुनिया भर में त’बाही मची पड़ी है। ऐसे में इस वाय’रस से सबसे ज़्यादा शिका’र होने का खत’रा छोटे बच्चे और अधिक उम्र वाले लोगों को है। लेकिन इसी बीच यूपी के झांसी (Jhansi) से खबर है कि एक 95 साल की बुजुर्ग महिला ने कोरो’ना संक्रम’ण को मात दे दी है। खबर के मुताबिक इस महिला का नाम मान कुंवर  (Maan Kunwar) है और वह झांसी की तालपुरा की रहने वाली है। बताया जा रहा है कि उसमें कोई भी कोरो’ना लक्षण नज़र नहीं आए थे लेकिन रिपोर्ट के मुताबिक वह कोरो’ना पॉजिटिव थी। जिसके चलते उन्हें झांसी में स्तिथ महारानी लक्ष्मीबाई अस्पता’ल में भर्ती करवाया गया।

बता दें कि 19 जुलाई को मान कुंवर को महारानी लक्ष्मीबाई अस्पता’ल के कोविड वार्ड में भर्ती कराया गया था और भर्ती होने के तीसरे दिन उन्होंने कोरो’ना संक्रम’ण से जंग ल’ड़ना शुरू कर दी। डॉक्टरों द्वारा दी गई दवाइयों का असर होता नजर आया जिसके चलते उन्हें आईसीयू में ले जाने की जरूरत नहीं पड़ी। 95 साल की इस बुजुर्ग महिला ने अपने हौसले और जज़बे से कोरो’ना वाय’रस की इस महामा’री को हरा दिया। बताया जा रहा है कि मान कुंवर पहली बार अस्पता’ल में आई थी, जिसकी वजह से वह काफी परे’शान थी।

कोविड-19 अस्पता’ल के प्रभारी अधीक्षक डॉ. अंशुल जैन से बात होने पर उन्होंने बताया कि “मान कुंवर शुरू में चिंति’त थीं क्योंकि वो पहली बार अस्पता’ल आई थीं। लेकिन धीरे-धीरे वह माहौल में ढल गईं। इला’ज के दौरान जूनियर डाक्टरों ने मान कुंवर की उनके परिवारवालों से वीडियो कॉल पर बात कराई।” साथ ही उन्होंने बताया कि अस्पता’ल में उन्हें हल्दी वाला दूध और अच्छा खाना दिया जाता था और भर्ती होने के बाद दूसरे ही दिन उनकी सेहत सामान्य हो गई। जिसके चलते डॉक्टर्स ने फिर उनकी कोरो’ना जां’च करवाई और रिपोर्ट नेगेटिव आने पर उनको 25 जुलाई को अस्पता’ल से छुट्टी दे दी गई। बताया जा रहा है कि डिस्चार्ज होते समय सभी डॉक्टर्स, मेडिकल स्टाफ और मौजूदा म’रीजों ने तालियां बजाकर उनका सम्मान किया और उन्हें विदा किया। वहीं बताया जा रहा है कि सरकारी गाइडलाइन के मुताबिक डॉक्टर्स ने उन्हें 7 दिन के लिए होने आइसोलेशन में रहने को कहा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.